खता सरकार से हुई, खामियाजा इन कंपनियों ने भुगता; लग गया मोटा जुर्माना!     

कुछ सरकारी कंपनियों को नियमों का पालन नहीं करने के चलते BSE और NSE की करवाई का सामना करना पड़ा है.

Last Modified:
Monday, 27 November, 2023
Photo Credit:  SeekersGuidance

नियमों के पालन को लेकर जिस तरह भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) सख्त रुख अपनाता है. वैसे ही, स्टॉक एक्सचेंज भी नियमों में कोहती पर किसी को नहीं छोड़ते. बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (BSE) और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (NSE) ने कुछ ऐसी कंपनियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की है, जिन्होंने निदेशक मंडल में स्वतंत्र निदेशकों की संख्या को लेकर निर्धारित नियमों का पालन नहीं किया. मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, इन कंपनियों में इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन (IOC) का नाम भी शामिल है. 

इन पर कोताही का आरोप  
रिपोर्ट्स के मुताबिक, इंडियन ऑयल और गेल (इंडिया) लिमिटेड सहित सार्वजनिक क्षेत्र की तेल व गैस कंपनियों के खिलाफ यह कार्रवाई हुई है. ये कंपनियां निदेशक मंडल में आवश्यक संख्या में स्वतंत्र निदेशकों से जुड़ी आवश्यकताओं को पूरा करने में विफल रही हैं. ये लगातार दूसरी तिमाही है जब इन कंपनियों पर जुर्माना लगाया गया है. बीएसई और एनएसई ने इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन (IOC), ऑयल एंड नेचुरल गैस कॉरपोरेशन (ONGC), ऑयल इंडिया लिमिटेड, GAIL, भारत पेट्रोलियम कॉरपोरेशन लिमिटेड (BPCL), हिंदुस्तान पेट्रोलियम कॉरपोरेशन लिमिटेड (HPCL) और इंजीनियर्स इंडिया लिमिटेड पर जुर्माना लगाया है.

ये भी पढ़ें - Stock Market: आज तो बंद है बाजार, लेकिन इस पूरे हफ्ते कैसी रहेगी चाल?

इतना देना होगा जुर्माना
इन कंपनियों को जुर्माने के तौर पर 5.42-5.42 लाख रुपए का भुगतान करना होगा. इन कंपनियों ने शेयर बाजार को अलग-अलग दी जानकारी में BSE और NSE द्वारा लगाए गए जुर्माने का विवरण दिया है. हालांकि, कंपनियों ने यह भी स्पष्ट किया है कि निदेशकों की नियुक्ति सरकार के अधीन है और इसमें उनकी कोई भूमिका नहीं है. इस लिहाज से देखें, तो सरकार की चूक या लापरवाही का खामियाजा इन कंपनियों को भुगतना पड़ा है. इससे पहले, ONGC पर 3.36 लाख रुपए, IOC पर 5.36 लाख और GAIL पर 2.71 लाख रुपए का जुर्माना लगाया गया था.


छुट्टी वाले दिन आज खुल रहा बाजार, इन शेयरों में दिख सकती है तेजी वाली बहार!  

आमतौर पर शनिवार को स्टॉक मार्केट में छुट्टी होती है, लेकिन आज बाजार खुल रहा है.

Last Modified:
Saturday, 02 March, 2024
file photo

शेयर बाजार (Stock Market) के लिए कल का दिन शानदार रहा. घरेलू और वैश्विक स्तर पर कई ऐसे कारण रहे जिनसे बाजार को मजबूती मिली. विदेशी निवेशक भी बिकवाल के बजाए लिवाल बने. बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (BSE) का 30 शेयरों वाला सूचकांक सेंसेक्स 1,245.05 अंकों की उछाल के साथ 73,745.35 पर बंद हुआ, जो इसका सर्वकालिक उच्च स्तर है. इसी तरह नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (NSE) का निफ्टी भी 355.95 अंकों की मजबूती के साथ 22,338.75 पर पहुंच गया. चलिए जानते हैं कि आज कौनसे शेयर ट्रेंड में रह सकते हैं. बता दें कि आज शनिवार होने के बावजूद बाजार खुल रहा है.

इनमें हैं तेजी के संकेत 
मोमेंटम इंडिकेटर मूविंग एवरेज कन्वर्जेंस डिवर्जेंस (MACD) ने आज के लिए कुछ शेयरों में तेजी और कुछ में मंदी का रुख दर्शाया है. Eris Lifesciences, Ingersoll-Rand, ZF Commercial Vehicle Control Systems, Coromandel International, Firstsource और CE Info Systems में आज तेजी देखने को मिल सकती है. इसका एक मतलब ये भी है कि आज आपके पास इन शेयरों पर दांव लगाकर मुनाफा कमाने का मौका है. हालांकि, BW हिंदी आपको सलाह देता है कि शेयर बाजर में निवेश से पहले किसी सर्टिफाइड एक्सपर्ट से परामर्श जरूर कर लें अन्यथा आपको नुकसान भी उठाना पड़ सकता है. इसी तरह, MACD ने Maruti Suzuki, Suven Pharma, Century Textiles, Tata Chemicals, Blue Star और Poly Medicure में मंदी का रुख दर्शाया है. लिहाजा, इनमें निवेश को लेकर सावधान रहें. 

इनमें है मजबूत खरीदारी
अब उन शेयरों की बात करते हैं जिनमें मजबूत खरीदारी देखने को मिल रही है. इस लिस्ट में ICICI Bank, Tata Steel, Tata Motors, Reliance, M&M, Adani Enterprises और Grasim Industries शामिल हैं. उनमें से कुछ ने अपना 52 वीक का हाई लेवल पार कर लिया है. टाटा मोटर्स के शेयरों में कल करीब तीन प्रतिशत की उछाल आई और यह 978 रुपए पर बंद हुआ. बीते 5 दिनों में इस शेयर ने 3.81% का रिटर्न दिया है. जबकि इस साल अब तक यह शेयर 23.70% उछला है. इसी तरह, ICICI Bank के शेयर शुक्रवार को 3.12% की मजबूती आई और यह 1,085 रुपए पर बंद हुआ. 

डिस्क्लेमर: शेयर बाजार में निवेश जोखिम के अधीन है. 'BW हिंदी' इसकी कोई जिम्मेदारी नहीं लेता. सोच-समझकर, अपने विवेक के आधार पर और किसी सर्टिफाइड एक्सपर्ट से सलाह के बाद ही निवेश करें, अन्यथा आपको नुकसान उठाना पड़ सकता है).


BW People Celebrate करने जा रहा है EXCEPTIONAL MANAGERS AWARD, प्रतिभाओं का होगा सम्‍मान 

ये अवॉर्ड कई कैटेगिरी में दिए जाएंगे. इन अवॉर्ड्स में प्रतिभाशाली लोगों का चयन करने के लिए एक ज्‍यूरी बनाई गई है.

Last Modified:
Friday, 01 March, 2024
BW People

Businessworld की कम्‍यूनिटी BW People द्वारा किए जाने वाले एक्सेप्शनल मैनेजर्स ऑफ द ईयर अवार्ड्स 2023 का आयोजन देश की राजधानी दिल्‍ली में होने जा रहा है. ये नया प्रयास उन प्रबंधकों और नेताओं की उपलब्धियों को सम्‍मान देने का है जिन्होंने अपने संगठनों को आगे बढ़ाने के लिए परिश्रमपूर्वक और रणनीतिक रूप से काम किया है.  इंडस्‍ट्री की सक्‍सेस कंपनियों के स्तंभों का जश्न मनाने के लिए बीडब्ल्यू बिजनेसवर्ल्ड द्वारा पहल का आयोजन और लॉन्च किया जाएगा. 

आखिर कौन-कौन हैं इस ज्‍यूरी में? 
वर्ष के असाधारण प्रबंधक पुरस्कार उन उल्लेखनीय प्रतिभाओं को सम्मानित करने के लिए एक मंच के रूप में काम करेंगे जिन्होंने अपनी कंपनियों के विस्तार और प्रभावशीलता प्रबंधन दिया है. पुरस्कारों का निर्णय इंडस्‍ट्री के विशेषज्ञों के एक पैनल द्वारा किया जाएगा जिसमें रेडिया मिर्ची के सह-संस्थापक ए.पी. पारिगी,  टाइम्स ओओएच मीडिया के अतुल सोबती, बीएचईएल के महानिदेशक-स्कोप व पूर्व सीएमडी- डॉ. संगीता शाह भारद्वाज, कार्यवाहक निदेशक- प्रबंधन विकास संस्थान, गुड़गांव; एस.के. बोस, निदेशक- एडमिनिस्ट्रेटिव स्टाफ कॉलेज ऑफ इंडिया, नई दिल्ली केंद्र,  डॉ. पुनम सहगल, पूर्व डीन और प्रोफेसर- भारतीय प्रबंधन संस्थान, लखनऊ,  डॉ. अनुराग बत्रा, चेयरमैन और प्रधान संपादक-बीडब्ल्यू बिजनेसवर्ल्ड और संस्थापक-एक्सचेंज4मीडिया, और तालीस रिजवी, निदेशक- बीडब्ल्यू पीपल और बीडब्ल्यू सीएफओ वर्ल्ड शामिल हैं. 

क्‍या बोले निदेशक तलीज रिजवी? 
इन अवॉर्डस को लॉन्‍च करते हुए BW People & BW CFO World Community के Director, Talees Rizvi, ने कहा, हम 'EXCEPTIONAL MANAGERS AWARDS ' की शुरुआत की घोषणा करते हुए उत्साहित हैं, जिसका उद्देश्य इंडस्‍ट्री के भविष्य को आकार देने वाले प्रबंधकों और पेशेवरों की उपलब्धियों का जश्न मनाना है. इस अवॉर्डस का मकसद इस क्षेत्र में काम करने वाले विद्वान लीडरों के टैलेंट का जश्‍न मनाने के लिए मंच प्रदान करना है जिन्होंने अपने संगठनों को सफलता की ओर अग्रसर किया है. 

कैसे कर सकते हैं इन पुरस्‍कारों के लिए नामांकन?  
ये अवॉर्डस अपने अपने क्षेत्र के हर पहलू की सफलता को मान्यता देगें और इसमें सभी श्रेणियां के सभी उद्योगों के उद्यमों के लिए खुली हैं. इस अवॉर्ड के लिए जिन कैटेगिरी में दावेदारी की जा सकती है उनमें Exceptional HR Managers,  Exceptional Marketing Managers,  Exceptional Finance Managers, Exceptional Advertising & PR,  Exceptional Facility Managers,  Exceptional Supply Chain Managers, Exceptional Sales Managers,  Exceptional Information Technology Managers,  Exceptional R&D Managers,  Exceptional Customer Service Managers, Exceptional Accounts Managers, and Exceptional Operations Managers के लिए नामांकन कर सकते हैं. समारोह का समापन वर्ष के टेक इनोवेटर सहित हॉलमार्क पुरस्कार प्रदान करने के साथ होगा; वर्ष का सबसे युवा प्रबंधक; और वर्ष की महिला असाधारण प्रबंधक। प्रविष्टियों के मूल्यांकन की जांच प्रतिष्ठित जूरी पैनल द्वारा की जाएगी.

कई कंपनियों सीईओ रहेंगे इस अवॉर्ड शो मौजूद 
इन पुरस्कार समारोह से पहले एक दिन का सम्मेलन होगा जिसमें उद्योग प्रमुख और सीईओ, सीओओ, बिजनेस प्रमुख जैसे विभिन्न उद्योगों के विशेषज्ञ शामिल होंगे. यह मंच उद्योग के साथियों के साथ अपने अनुभव साझा करेंगे.  ये अवॉर्ड शो उनसे मिलने और नेटवर्क बनाने के अवसर के रूप में कार्य करता है. इस शानदार अवॉर्ड शो में शामिल होने का मौका न चूके. इस बारे में ज्‍यादा जानकारी के लिए वर्ष के असाधारण प्रबंधक पुरस्कार 2023 के बारे में अधिक जानने के लिए, कृपया वेबसाइट पर जाएँ.

क्‍या करती है बीडब्ल्यू बिजनेसवर्ल्ड 
बीडब्ल्यू बिजनेसवर्ल्ड, जिसका नेतृत्व एक्सचेंज4मीडिया समूह के चेयरमैन और प्रधान संपादक और संस्थापक डॉ. अनुराग बत्रा कर रहे हैं, 23 विशिष्ट व्यापारिक समुदायों और 8 पत्रिकाओं वाले नेटवर्क के साथ भारत में सबसे तेजी से बढ़ने वाला बिजनेस मीडिया हाउस है. बीडब्ल्यू बिजनेसवर्ल्ड को घरेलू और वैश्विक व्यापार पारिस्थितिकी तंत्र में विभिन्न क्षेत्रों में स्थापित होने पर गर्व है. 

ये भी पढ़ें: 
 


अब इस कंपनी के AI से अपनी भाषा में जानिए सवालों के जवाब, 12 भारतीय भाषाओं में मिलेगा जवाब 

QX लैब AI की खास बात ये है कि ये 12 भारतीय सहित 100 से अधिक भाषाओं में उपलब्‍ध है. ये एआई प्‍लेटफॉर्म GenAI तकनीक के साथ

Last Modified:
Friday, 01 March, 2024
Ask QI

AI की तकनीक तो अब तक बाजार में कई कंपनियां ऑफर कर रही हैं लेकिन आर्टिफिशियल जनरल इंटेलिजेंस (एजीआई) पर काम करने वाली कंपनी क्यूएक्स लैब एआई (QX Lab AI) ने शुक्रवार को भारतीयों को उनकी भाषा में सर्च इंजन मुहैरा कराने के मकसद से हाइब्रिड जेनरेटर एआई प्लेटफॉर्म आस्क क्यूएक्स को लॉन्‍च कर दिया. ये सर्च इंजन 12 भारतीय भाषाओं में लोगों के सवालों के जवाब देगा. 

इस मौके पर कंपनी ने क्‍या दी जानकारी?  
भारत में इस एआई को लॉन्‍च करते हुए कंपनी ने कहा कि यह 12 भारतीय सहित 100 से अधिक भाषाओं में उपलब्ध है. इसकी खास बात ये है कि ये अपनी पसंदीदा भाषा में GenAI तकनीक के साथ बातचीत करने की सुविधा भी देता है. कंपनी 2024 की पहली तिमाही  में इस प्‍लेटफॉर्म में  टेक्स्ट और ऑडियो प्लेटफॉर्म की उपलब्धता के लिए आने वाली पिक्‍चर और वीडियो क्षमताओं से मिलकर, QX लैब AI भारत के लिए एक वर्किंग GenAI प्लेटफॉर्म प्रदान करने के लिए तैयारी कर रही है. 

क्‍या बोले कंपनी के फाउंडर? 
भारतीय भाषाओं के इस वर्जन को लॉन्‍च करते हुए क्यूएक्स लैब एआई के सह-संस्थापक और सीईओ, तिलकराज परमार ने कहा, हमें बहुभाषी क्षमताओं वाले दुनिया के अग्रणी हाइब्रिड जेन एआई प्लेटफॉर्म, आस्क क्यूएक्स को पेश करते हुए खुशी हो रही है. ये नए तरह का प्लेटफॉर्म रणनीतिक रूप से एआई तक पहुंच को लोकतांत्रिक बनाने के लिए डिजाइन किया गया है. कंपनी आठ वर्षों के समर्पित प्रयास और सावधानीपूर्वक विकास के बाद, आस्क क्यूएक्स कई भारतीय भाषाओं में अद्वितीय भाषा दक्षता और सटीकता का दावा कर रही है.  

इन सुविधाओं का ले सकेंगे फायदा 
इस प्लेटफॉर्म को इस्‍तेमाल करने वाले लोग कई तरह की सुविधाओं का फायदा ले सकते हैं, जिसमें धीरे-धीरे टेक्स्ट-टू-इमेज, टेक्स्ट-टू-कोड और टेक्स्ट-टू-वीडियो जैसी सुविधाएं पेश करने की योजना है. ये पेशकशें बिजनेस-टू-कंज्यूमर (बी2सी), बिजनेस-टू-बिजनेस (बी2बी) और बिजनेस-टू-इंस्टीट्यूशन (बी2आई) समूहों तक फैली हुई हैं, जो स्वास्थ्य देखभाल, शिक्षा और कानूनी सेवाओं जैसे क्षेत्रों तक फैली हुई हैं. पिछले महीने दुबई में, एआर रहमान ने इस प्रोजेक्ट का अनावरण किया. क्यूएक्स लैब एआई के रोडमैप में वीडियो और छवि में दो नवीन उत्पाद शामिल हैं, जो चुस्त और अति-उत्पादक समाधानों के लिए गहन शिक्षण एल्गोरिदम का लाभ उठाते हैं. 

ये भी पढ़ें: आनंद सिंघी इस इंश्‍योरेंस कंपनी में संभालेंगे ये अहम जिम्मेदारी, कंपनी ने की घोषणा
 


मुंह का स्वाद बढ़ाने वाली गुजरात की ये कंपनी है खबरों में, वजह जानते हैं आप?

इस साल अब तक कई कंपनियों के आईपीओ आ चुके हैं अब गोपाल स्नैक्स भी इस लिस्ट में शामिल होने वाली है.

Last Modified:
Friday, 01 March, 2024
file photo

अपने नमकीन, चिप्स और स्नैक्स से लाखों लोगों के दिलों पर राज करने वाली राजकोट की 'गोपाल स्नैक्स' (Gopal Snacks) खबरों में है. वजह है अगले हफ्ते आने वाला कंपनी का आईपीओ. मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, गोपाल स्नैक्स का आईपीओ अगले सप्ताह बुधवार को खुल रहा है और इसका प्राइज बैंड 381 से 401 रुपए प्रति शेयर तय किया गया है. आईपीओ का लॉट साइज 37 इक्विटी शेयर रखा गया है. यानी निवेशकों को कम से कम 37 शेयर खरीदने होंगे.  

ऐसा रहेगा आईपीओ 
गोपाल स्नैक्स आईपीओ में क्वालिफाइड इंस्टीट्यूशनल बायर्स (QIB) के लिए 50% से ज्यादा शेयर आरक्षित नहीं हैं. इसके अलावा गैर-संस्थागत संस्थागत निवेशकों (NII) के लिए 15% और रिटेल इन्वेस्टर्स के लिए 35% शेयर रिजर्व किए गए हैं. वहीं, कर्मचारियों को प्रति इक्विटी शेयर 38 रुपए की छूट की पेशकश की जा रही है. आईपीओ में प्रमोटर और अन्य निवेशकों द्वारा 650 करोड़ के इक्विटी शेयर बिक्री की पेशकश (OFS) में शामिल हैं. गोपाल स्नैक्स के आईपीओ अलॉटमेंट को 12 मार्च को अंतिम रूप दिया जाएगा. जबकि 13 मार्च से ऐसे निवेशकों का पैसा लौटाने की प्रक्रिया शुरू होगी, जिन्हें शेयर नहीं मिले हैं. 

ऐसा है पोर्टफोलियो 
कंपनी की बात करें, तो गोपाल स्नैक्स के प्रमोटर गोपाल एग्री प्रोडक्ट्स, दक्षाबेन बिपिनभाई हडवानी और बिपिनभाई विट्ठलभाई हडवानी हैं. इस कंपनी की शुरुआत 1999 में एक पार्टनरशिप फर्म के रूप में हुई थी और 2009 में इसे कंपनी का रूप दिया गया. कंपनी गोपाल ब्रांड के तहत अलग-अलग उत्पाद बेचती है. इसके प्रोडक्ट पोर्टफोलियो में पापड़, मसाले, नमकीन, नूडल्स, रस्क, गाठिया और वेफर्स सहित वेस्टर्न स्नैक्स भी शामिल हैं. साथ ही कंपनी सोन पापड़ी भी बेचती है. गोपाल स्नैक्स की पहुंच 10 राज्यों और दो केंद्र शासित प्रदेशों तक है. कंपनी के कुल तीन डिपो और 617 डिस्ट्रीब्यूटर्स हैं. कंपनी की प्रोडक्शन यूनिट गुजरात के राजकोट और मोदसा के साथ ही महाराष्ट्र के नागपुर में भी है.
 


BSE के साथ Asia index को अपनी हिस्सेदारी बेचेगी ये कंपनी......  

एसएंडपी डॉव जोन्स (S&P Dow Jones) द्वारा Joint Venture  में BSE (बीएसई) के साथ एशिया इंडेक्स को अपनी हिस्सेदारी बेचने के बाद ‘एसएंडपी’ पर अपना टैग खो सकता है Sensex.

Last Modified:
Friday, 01 March, 2024
BSE

भारत का दूसरा सबसे ज्यादा ट्रैक किया जाने वाला इक्विटी बेंचमार्क सेंसेक्स (Sensex) भविष्य में अपना S&P का टैग खो सकता है. ऐसी कयास तब लगाई जा रही है, जब दुनिया के सबसे बड़े इंडेक्स सेवा प्रदाता 'एसएंडपी' डॉव जोन्स (S&P Dow Jones) ने बीएसई के साथ हुए एक ज्वाइंट वेंचर में एशिया इंडेक्स प्राइवेट लिमिटेड (एआईपीएल) को अपनी हिस्सेदारी बेच दी है. एक्पर्ट्स की मानें, तो इससे सेंसेक्स को घाटा हो सकता है.

बीएसई के साथ हो रही एआइपीएल में फंडिग की चर्चा

एसएंडपी डॉव जोन्स इंडिसिस एलएलसी,  बीएसई के साथ ज्वाइंट वेंचर के तहत एआईपीएल में अपनी फंड की हिस्सेदारी के डिवेस्टमेंट के लिए बीएसई के साथ चर्चा कर रही है. एसएंडपी डॉव जोन्स इंडेक्स एलएलसी, The McGraw-Hill (द मैकग्रा-हिल) कंपनीज की सहायक कंपनी है, जोकि इंडेक्स बेज्ड कान्सेप्ट, डेटा और रिसर्च के लिए दुनिया का सबसे बड़ा ग्लोबल रिसॉर्स है.

इंडेक्स कारोबार के लिए भारत की रेटिंग एजेंसी क्रिसिल के साथ समझौता

सूत्रों के अनुसार एसएंडपी डॉव जोन्स लगभग 10 वर्षों से दुनिया के सबसे बड़े इंडेक्स प्रदाता हैं. वह वैशविक मार्केट पूंजीकरण का लगभग 95 प्रतिशत हिस्सा, बीएसई सेंसेक्स और अन्य इंडेक्स प्रोवाइडर्स हैं, लेकिन अब एसएंडपी डॉव जोन्स इंडेक्स कारोबार के लिए भारत की रेटिंग एजेंसी क्रिसिल के साथ समझौता करेगी.

कब हुआ था ज्वाइंट वेंचर

बीएसई और एसएंडपी डॉव जोन्स ने 2013 में एशिया इंडेक्स नामक एक ज्वाइंट वेंचर किया था, जिसमें  कंपनी बेंचमार्क सेंसेक्स इंडेक्स सहित बीएसई के प्रमुख इक्विटी इंडेक्स के प्रबंधन और संचालन के लिए जिम्मेदार थी. एक्सपर्ट्स के अनुसार विदेशों में नेशनल स्टॉक एक्सचेंज के इक्विटी इंडेक्स का प्रबंधन और संचालन एनएसई की सहायक कंपनी एनएसई इंडेक्स द्वारा किया जाता है.

 

प्रोफेशनल निवेशकों के लिए फाइनेंशियल मार्केट इंडेक्स पर करेंगे काम

एसएंडपी डॉव जोन्स इंडेक्स एलएलसी प्रोफेशनल्स निवेशकों के लिए फाइनेंशियल मार्केट इंडेक्स प्रदान कराने पर काम करेंगे. यह कंपनी दुनिया भर के इन्वेस्टमेंट मैनेजर्स को इक्विटी, फिक्सड इनकम, कमोडिटी, रियल एस्टेट, स्ट्रैटर्जी और कस्टम इंडेक्स सेवा प्रदान करती है.

 


शेयर बाजार में शनिवार को रहती है छुट्टी, लेकिन कल होगा कारोबार, जानते हैं क्यों?

शेयर बाजार में कल यानी शनिवार को भी कारोबार होगा. ऐसा खास मकसद से किया जा रहा है.

Last Modified:
Friday, 01 March, 2024
file photo

शेयर बाजार (Stock Market) ने आज बीते दो में आई गिरावट की भरपाई कर दी. मार्केट बढ़त के साथ खुला और अच्छी-खासी तेजी दर्ज करके बंद हुआ. इस दौरान, सेंसेक्स 1,245.05 अंकों की उछाल के साथ 73,745.35 और निफ्टी 355.95 अंक चढ़कर 22,338.75 पर पहुंच गया. अब अगले सत्र में यह तेजी बरकरार रहेगी या नहीं, ये देखने के लिए आपको सोमवार तक इंतजार करने की जरूरत नहीं है. क्योंकि कल यानी शनिवार को मार्केट में कारोबार होने वाला है. 

इसलिए हो रहा ऐसा  
कल यानी शनिवार 2 मार्च को शेयर बाजार में कारोबार होगा. बाजार सप्ताह में 5 दिन खुलता है और शनिवार-रविवार अवकाश होता है. लेकिन इस शनिवार को मार्केट में ट्रेडिंग होगी. नेशनल स्टॉक एक्सचेंज और बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज की तरफ से पहले ही इस बारे में सूचित कर दिया गया है. नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (NSE) 2 मार्च को स्पेशल लाइव ट्रेडिंग सेशन आयोजित करेगी, जिसमें इंट्राडे में कामकाज को डिजास्टर रिकवरी साइट पर ले जाया जाएगा. दरअसल, कामकाज को प्रभावित कर सकने वाली किसी भी अप्रत्याशित घटना से निपटने के लिए एक्सचेंज को तैयार रखने के उद्देश्य से स्पेशल सेशन आयोजित किया जा रहा है. 

ये भी पढ़ें - Ambani Family की खुशियों में शरीक होने आईं Rihanna की फीस उड़ा देगी आपके होश

इस महीने कितनी छुट्टियां?
एनएसई ने अपने सर्कुलर में बताया है कि 2 मार्च को प्राइमरी साइट से डिजास्टर रिकवरी साइट पर इंट्राडे स्विच के साथ एक्सचेंज स्पेशल लाइव ट्रेडिंग सेशन आयोजित कर रहा है. कल 2 विशेष लाइव सेशन आयोजित होंगे. इसमें पहला लाइव सेशन सुबह 9:15 बजे से शुरू होगा और सुबह 10 बजे खत्म हो जाएगा. इस दौरान ट्रेडिंग प्राइमरी वेबसाइट पर होगी. वहीं दूसरा सेशन सुबह 11:30 बजे शुरू होकर दोपहर 12:30 बजे तक चलेगा.  इस साल बाजार में छुट्टियों की बात करें, तो 2024 में 19 दिन शेयर बाजार बंद रहेगा. इन 19 दिनों में से 14 दिन वर्किंग डे पर बाजार में ट्रेडिंग नहीं होगी. 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस के मौके पर स्टॉक मार्केट बंद रहा था. 8 मार्च को महाशिवरात्रि के उपलक्ष्य में बाजार में ट्रेडिंग नहीं होगी. इसी तरह, होली (25 मार्च 2024), गुड फ्राइडे (29 मार्च 2024) को भी बाजार बंद रहेगा.


आनंद सिंघी इस इंश्‍योरेंस कंपनी में संभालेंगे ये अहम जिम्मेदारी, कंपनी ने की घोषणा

आनंद सिंघी बिजनेस ऑपरेशन, अंडरराइटिंग, क्‍लेम, सेल्स, मार्केटिंग और डिस्ट्रीब्यूशन जैसे प्रमुख कामों में मजबूत कामों के लिए पहचाने जाते हैं.

Last Modified:
Friday, 01 March, 2024
Anand Singhi

भारत की नामी जनरल इंश्‍योरेंस कंपनी आईसीआईसीआई लोम्बार्ड (ICICI Lombard) ने नए चीफ - रिटेल एंड गवर्नमेंट बिजनेस के रूप में आनंद सिंघी की नियुक्ति को घोषणा की है. कंपनी ने इंश्योरेंस इंडस्ट्री में अपनी स्थिति को और मजबूत करने के मकसद से ये रणनीतिक कदम उठाया है. जनरल इंश्‍योरेंस इंडस्‍ट्री में दो दशकों से अधिक के अनुभव के साथ सिंघी की नियुक्ति आईसीआईसीआई लोम्बार्ड के लिए इनोवेशन को बढ़ावा देने और विकास को गति देने की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम है.

आनंद के पास इन क्षेत्रों की है महारत 
आनंद सिंघी इस इंडस्‍ट्री में बीते दो दशक से काम कर रहे हैं. वो बिजनेस ऑपरेशन, अंडरराइटिंग, क्‍लेम, सेल्स, मार्केटिंग और डिस्ट्रीब्यूशन जैसे प्रमुख कामों में मजबूत कामों के लिए पहचाने जाते हैं. आईसीआईसीआई लोम्बार्ड के साथ उन्होंने अपनी यात्रा शुरू की थी, जहां उन्होंने एक दशक बिताया और वाइस प्रेसिडेंट - हेल्थ मैनेजमेंट के रूप में अपनी भूमिका तक पहुंचे. सिंघी बाद में रिलायंस जनरल इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड में पहले चीफ ऑपरेटिंग ऑफिसर और फिर चीफ डिस्ट्रीब्यूशन ऑफिसर के रूप में काम किया और उन्होंने डाइवर्स प्रोडक्ट पोर्टफोलियो और चैनलों को कवर करते हुए रिटेल और गवर्नमेंट बिजनेस में सेल्स, डिस्ट्रीब्यूशन, मार्केटिंग और रणनीतिक पहल का नेतृत्व किया.

अपनी नियुक्ति पर आनंद सिंघी ने कही ये बात 
अपनी नई भूमिका के बारे में आनंद सिंघी ने कहा कि, मैं आईसीआईसीआई लोम्बार्ड में शामिल होने को लेकर उत्साहित हूं और इसे कंपनी की सफलता और इनोवेशन एजेंडे में योगदान करने के बड़े अवसर के रूप में देखता हूं. मेरी अब तक की यात्रा ने मुझे कई तरह के नए आइडिया और अनुभव दिए हैं. मेरा मानना है कि इसके जरिए से कंपनी की ग्रोथ में तेजी और संगठन के लिए लगातार प्रॉफिटेबिलिटी बढ़ाने में मदद मिलेगी.

आनंद की नियुक्ति पर क्‍या बोले CHR?  
आईसीआईसीआई लोम्बार्ड में चीफ- ह्यूमन रिसोर्स जेरी जोस ने कहा कि, हम आनंद सिंघी का हार्दिक स्वागत करते हैं और उनके मजबूत ट्रैक रिकॉर्ड और नेतृत्व अनुभव की गहराई के साथ, हम उन्हें हमारी वर्तमान नेतृत्व टीम के पूरक और इसे और मजबूत करने वाले के रूप में देखते हैं. आनंद की नियुक्ति के साथ, आईसीआईसीआई लोम्बार्ड लगातार बेहतरी के प्रति अपने समर्पण को दिखाता है, वहीं उनकी दूरदर्शिता के साथ इंश्योरेंस इंडस्ट्री के बेहतर भविष्य का लाभ उठाने के लिए तैयार है. 

ये भी पढ़ें: इनकी नियुक्ति के लिए Axis Bank को मिला RBI का ग्रीन सिग्‍नल, ये मिली जिम्‍मदारी
 


जाने 6 रुपये की कीमत वाले कौन से शेयर ने मारी छलांग? तीन दिन से लगातार लग रहा अपर सर्किट

कई तरह के प्लास्टिक के कच्चे माल का व्यापार करने वाली आदी इंडस्ट्रीज (Aadi Industries) के शेयर की कीमत शुक्रवार को पांच प्रतिशत तक बढ़कर 6.31 रुपये हो गई है.

Last Modified:
Friday, 01 March, 2024
Aadi industries share hike

शुक्रवार को महीने के पहले दिन शेयर बाजार ने अपने पिछले रिकार्ड को तोड़कर अब एक नया रिकार्ड कायम कर लिया है. ऐसे माहौल में कई पेनी शेयरों ने भी रफ्तार पकड़ ली है. पेट्रोकेमिकल शेयरों से जुड़ी कंपनी आदी इंडस्ट्रीज के शेयरों में भी काफी तेजी आई है और सप्ताह के आखिरी कारोबारी दिन इस शेयर में अपर सर्किट लग गया. जिन लोगों के भी पास इसके शेयर हैं, यह उनके लिए बहुत बड़ी खुशखबरी है.  

एक सप्ताह में 15 प्रतिशत तक बढ़ी शेयर की कीमत

शुक्रवार को पिछली क्लोजिंग 6.01 रुपये की कीमत पार करते हुए, इस शेयर की कीमत 5 प्रतिशत तक बढ़कर 6.31 रुपये हो गई. ये शेयर के अपर सर्किट का बैंड भी है. इससे पहले लगातार तीन दिन तक इस शेयर में अपर सर्किक देखने को मिला है. एक हफ्ते में यह शेयर 15 प्रतिशत बढ़ गया है. हालांकि, शेयर अब भी अपने 52 वीक हाई 8.90 रुपये से नीचे है. बता दें. कंपनी के शेयर ने इसी साल जनवरी महीने में इस स्तर को छू लिया है. शेयर ने पिछले साल अगस्त महीने में 3.01 रुपये के निचले स्तर को छूआ था. यह शेयर के 52 वीक का निचला स्तर था.

शेयर में किसकी किनती हिस्सेदारी

शेयरहोल्डिंग की बात करें तो दिसंबार तिमाही के दौरान आदी  इंडस्ट्रीज में प्रमोटर की हिस्सेदारी 24.86 प्रतिशत की है. वहीं, पब्लिक शेयरहोल्डिंग 75.14 प्रतिशत है. इस कंपनी के इंडीविजुअल प्रमोटर ऋषभ साह हैं, जिनके पास कंपनी के 25, 86, 429 शेयर हैं.

प्लास्टिक के कच्चेमाल का व्यापार करती है कंपनी

आदी  इंडस्ट्रीज की बात करें तो यह प्लास्टिक के कच्चेमाल का व्यापार करती है. इनके द्वारा अर्थव्यवस्था के विभिन्न क्षेत्रों की जरूरतों को पूरा करने के लिए अलग अलग तरह के प्लास्टिक कच्चे माल का उत्पादन किया जाता है. कंपनी मुख्य रुप से कमोडिटी, इंजीनियरिंग और विशेष प्लास्टिक के रूप में कैटेगराइज्ड प्लास्टिक जैसे पालीइथालीन  (High-Density Polyethylene), पालीप्रोपाइलीन (Polypropylene), पालीविनाइल क्लोराइड (Polyvinyl Chloride) और पालीइस्टाइरीन (Polystyrene) शामिल हैं.

नोट: हम आपको कंपनी के शेयर खरीदने की सलाह नहीं दे रहे हैं। केवल आपको कंपनी के संबंध में जानकारी प्रदान की गई है. आप अपने किसी सलाहकरा से सलाह लेकर ही इसे खरीदें.    


Ambani Family की खुशियों में शरीक होने आईं Rihanna की फीस उड़ा देगी आपके होश

अनंत अंबानी और राधिका मर्चेंट के प्री-वेडिंग इवेंट्स की शुरुआत आज से हो रही है. रिहाना सहित दिग्गज हस्तियां जामनगर में परफॉर्म करेंगी.

Last Modified:
Friday, 01 March, 2024
file photo

एशिया के सबसे अमीर कारोबारी मुकेश अंबानी (Mukesh Ambani) के बेटे अनंत, राधिका मर्चेंट के साथ शादी के बंधन में बंधने जा रहे हैं. दोनों के प्री-वेडिंग इवेंट्स (Anant Ambani-Radhika Merchant Pre Wedding Function) की शुरुआत हो चुकी है. बॉलीवुड और हॉलीवुड की दिग्गज हस्तियां इसके लिए गुजरात के जामनगर पहुंच रही हैं. मशहूर पॉप सिंगर रिहाना (Rihanna) भी अंबानी फैमिली की खुशियों में शामिल होने के लिए भारत आ गई हैं. 1 से 3 मार्च तक चलने वाले प्री-वेडिंग इवेंट्स में रिहाना सहित कई स्टार्स को परफॉर्म करना है.

जुलाई में है शादी
जामनगर में रिहाना की परफॉरमेंस के लिए खास स्टेज तैयार किया गया है. रिहाना अपनी इस परफॉर्मेंस को लेकर बेहद उत्साहित हैं. मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, पॉप सिंगर रिहाना 29 फरवरी को ही वेन्यू पर पहुंची थीं. अनंत अंबानी और राधिका मर्चेंट की शादी जुलाई में होगी, लेकिन प्री-वेडिंग इवेंट्स आज यानी एक मार्च से शुरू हो गए हैं. 3 दिन तक चलने वाले सेलिब्रेशन में शामिल होने के लिए शाहरुख खान से लेकर सलमान खान तक बॉलीवुड की कई हस्तियां जामनगर पहुंच गई हैं.

इसलिए इतनी है फीस
रिहाना अपनी इस परफॉर्मेंस के लिए मोटी फीस ले रही हैं. मीडिया रिपोर्ट्स की मानें, तो अंबानी फैमिली पॉप सिंगर को करीब 66 से 74 करोड़ रुपए बतौर फीस दे रही है. वैसे, रिहाना प्राइवेट परफॉर्मेंस बहुत कम करती हैं, लेकिन अंबानी फैमिली के इस इवेंट में परफॉर्म करने को लेकर वह खुद भी बेहद उत्साहित हैं. रिहाना बड़े-बड़े बॉक्स लेकर भारत पहुंची हैं. बताया जा रहा है कि रिहाना की भारी-भरकम फीस का बड़ा हिस्सा उनकी परफॉर्मेंस से जुड़ा सामान भारत लाने और उनके बैकग्राउंड सिंगर्स के आउटफिट्स के लिए है.

चार्टर्ड प्लेन की व्यवस्था
जानकारी के मुताबिक, दिल्ली और मुंबई से जामनगर तक आने-जाने के लिए अंबानी फैमिली ने चार्टर्ड प्लेन की व्यवस्था कराई है. पहले दिन के समारोह को ‘एन इवनिंग इन एवरलैंड’ का नाम दिया गया है, जहां मेहमानों से ‘कॉकटेल पोशाक’ पहनने का आग्रह किया गया है. दूसरे दिन की थीम ‘ए वॉक ऑन द वाइल्डसाइड’ रखी गई है, जिसमें ‘जंगल फीवर’ का ड्रेस कोड होगा. तीसरे दिन के लिए, दो कार्यक्रमों – ‘टस्कर ट्रेल्स’ और ‘सिग्नेचर’ की योजना बनाई गई है. इसके लिए 65 शेफ की टीम मौजूद रहेगी, जो करीब 225 किस्म के पकवान बनाएगी. इस समारोह में लगभग 1000 मेहमान जुटने की उम्मीद है.
 

TAGS bw-hindi

Pidilite ने इन दोनों को सौंपी MD और Joint MD की कमान, जानें कौन हैं ये शख्स?

भरत पुरी का कार्यकाल समाप्त होने के बाद पिडीलाइट के बोर्ड आफ डायरेक्टर ने एमडी के रूप में सुधांशु वत्स और एग्जीक्यूटिव डारयेक्टर व ज्वाइंट मैनेजिंग डायरेक्टर के रूप में कविंदर सिंह को किया नियुक्त.

Last Modified:
Friday, 01 March, 2024
From left to right : Sudhanshu Vats, Bharat Puri and Kavinder Singh

पिडीलाइट इंडस्ट्रीज लिमिटेड (Pidilite) ने सुधांशु वत्स को अपना नया मैनेजिंग डायरेक्टर (एमडी) नियुक्त किया है. वहीं, कविंदर सिंह को एग्जीक्यूटिव डायरेक्टर और ज्वाइंट मैनेजिंग डायरेक्टर (Joint MD) की कमान सौंपी गई है. वर्तमान एमडी भरत पुरी का कार्यकाल समाप्त होने के बाद अब जल्द ही सुधांशु वत्स और कविंदर सिंह पिडीलाइट की कमान संभालेंगे. इसकी घोषणा पिडीलाइट  इंडस्ट्रीज ने शुक्रवार को की.   

पिडीलाइट के एग्जीक्यूटिव चेयरमैन ने क्या कहा? 

पिडीलाइट के एग्जीक्यूटिव चेयरमैन एम.बी. पारेख ने कहा है कि सुधांशु वत्स और कविंदर सिंह की नियुक्ति से पिडीलाइट को काफी लाभ होगा. ये दोनों मिलकर कंपनी को नई ऊंचाईयों पर ले जाएंगे. वह पिडीलाइट  की विकास यात्रा को आगे बढ़ाने के सफर में इन दोनों के साथ काम करने के लिए उत्सुक हैं.

सुधांशु वत्स कई बड़ें संस्थान से जुड़कर  कर चुके हैं काम

सुधांशु वत्स पिडीलाइट इंडस्ट्रीज के वर्तमान डिप्टी मैनेजिंग डायरेक्टर हैं. पिडीलाइट इंडस्ट्रीज से पहले वह ईपीएल लिमिटेड (जिसे पहले एस्सेल प्रोपैक लिमिटेड के नाम से जाना जाता था) में सीईओ और मैनेजिंग डायरेक्टर रह चुके हैं. उन्होंने ग्रुप सीईओ और मैनेजिंग डायरेक्टर के रूप में 8 वर्षों तक वायाकॉम 18 मीडिया प्राइवेट लिमिटेड में भी काम कर चुके हैं. उन्होंने 1991 में हिंदुस्तान लीवर लिमिटेड के साथ ट्रेनी के रूप में अपना करियर शुरू किया और उसके बाद 20 साल तक सेल्स, मार्केटिंग और जनरल मैनेजमेंट लीडरशिप जैसी विभिन्न भूमिकाओं में काफी मेहनत से काम किया.

कई बड़े संस्थान के लिए कन्ज्यूमर गुड्स सेक्टर में काम कर चुके कविंदर 

कविंदर सिंह वर्तमान में महिंद्रा हॉलीडेज एंड रिसॉर्ट्स इंडिया (एमएचआरआईएल) के मैनेजिंग डायरेक्टर और चीफ एग्जीक्यूटिव आफिसर हैं. उनके कार्यकाल के दौरान, एमएचआरआईएल लगभग 200 मिलियन अमेरिकी डॉलर से बढ़कर एक बिलियन डॉलर बाजार पूंजीकरण वाली कंपनी बन गई. कन्ज्यूमर गुड्स सेक्टर में उन्हें एशियन पेंट्स, आईटीसी लिमिटेड और पिडिलाइट इंडस्ट्रीज जैसे विभिन्न संस्थान का अनुभव प्राप्त है.