Tecno ने लॉन्च किया 108MP कैमरे वाला 5G फोन, क्या आपके लिए है ये बेहतर विकल्प?

टेक्नो (Techno) ने भारत में अपना नया स्मार्टफोन लॉन्च कर दिया है. इस स्मार्टफोन में 108MP कैमरा और 6000mAh की बैटरी है. इसकी कीमत भी मिड रेंड वाले खरीदारों को आकर्षित करती है.

Last Modified:
Friday, 29 March, 2024
Techno Smartphone

चीनी स्मार्टफोन कंपनी टेक्नो (Techno) ने भारत में अपना नया स्मार्टफोन लॉन्च किया है. Tecno POVA 6 Pro स्मार्टफोन 108MP कैमरा और 6000mAh की बैटरी के साथ आता है. इस फोन में 5G सपोर्ट मिलता है. हैंडसेट फास्ट चार्जिंग के साथ आता है. आपको बता दें इस फोन की कीमत कंपनी ने 20 हजार रुपये के आसपास रखी है, जोकि मिड रेंज बजट फोन खरीदारों के लिए अच्छा विकल्प है, लेकिन क्या ये आपको खरीदना चाहिए? तो आइए हम आपके साथ साझा करते हैं इस फोन से जुड़ी कुछ जरूरी जानकारी, जिसे पढ़कर आप इस फोन को खरीदना है या नहीं, इस पर विचार कर सकते हैं.  आइए जानते हैं इस फोन की कीमत और दूसरी डिटेल्स

कब होगी फोन की सेल? 

कंपनी ने इस साल फरवरी में हुए MWC  2024 में पेश किया था. टेक्नो ने इस स्मार्टफोन के स्पेसिफिकेशन्स पहले ही रिवील कर दिए थे. कंपनी ने इस फोन को दो कॉन्फिग्रेशन में लॉन्च किया है. ये हैंडसेट 8GB RAM और 256GB स्टोरेज के बेस वेरिएंट में आता है, जिसकी कीमत 19,999 रुपये है. वहीं, इसके 12GB RAM + 256GB स्टोरेज वेरिएंट की कीमत 21,999 रुपये है. इसे दो कलर- ग्रीन और ग्रे में Amazon से खरीद सकते हैं. फोन की सेल 4 अप्रैल से शुरू होगी. 

क्या हैं फीचर्स? 

Tecno POVA 6 Pro में 6.78-inch का FHD+ AMOLED डिस्प्ले मिलता है, जो 120Hz रिफ्रेश रेट सपोर्ट करता है. स्मार्टफोन MediaTek  Dimensity 6080 प्रोसेसर पर काम करता है. इसमें 12GB तक RAM और 256GB स्टोरेज का विकल्प मिलता है. ये हैंडसेट 108MP के प्राइमरी कैमरा के साथ आता है, जिसके साथ कंपनी ने 2MP का सेकेंडरी कैमरा और एक AI लेंस दिया है. वहीं फ्रंट में कंपनी ने 32MP का सेल्फी कैमरा दिया है. स्मार्टफोन Android 14 पर बेस्ड HiOS 14 पर काम करता है. डिवाइस को पावर देने के लिए 6000mAh की बैटरी दी गई है, जो 70W की फास्ट चार्जिंग सपोर्ट करती है.

स़ॉफ्टवेयर और चिपसेट के मामले में पीछे 

इस बजट में आपको Realme Narzo 70 Pro 5G, iQOO Z9 5G और Lava Blaze Curve 5G जैसे फोन मिलते हैं.  इस फोन में आपको बेहतर बैटरी जरूर मिलती है, लेकिन ये दूसरे समार्टफोन से सॉफ्टवेयर और चिपसेट के मामले में पीछे है. वहीं, लावा का फोन कम कीमत पर बेहतर डील ऑफर करता है. 


आ रहा है Android 15. अब आपने फोन की सिक्योरिटी होगी तगड़ी, हर काम आसान

गूगल एंड्रॉइड यूजर्स के लिए जल्द Android 15 लॉन्च करने वाला है. इसमें यूजर्स की प्राइवेसी और सिक्योरिटी को लेकर खास अपडेट मिलने वाला है.

Last Modified:
Thursday, 25 April, 2024
Android 15

गूगल (Google) अगले महीने एंड्रॉयड 15 (Android 15) लॉन्च करने वाला है. धीरे-धीरे एंड्रॉयड 15 के फीचर्स भी सामने आ रहे हैं. अभी तक सामने आई जानकारी के अनुसार गूगल ने प्राइवेसी और सिक्योरिटी को लेकर Android 15 पर काफी काम किया है. अगर आप भी एंड्रॉइड स्मार्टफोन का इस्तेमाल करते हैं, तो जानिए आपको एंड्रॉइड 15 में क्या खास फीचर मिलने वाले हैं?

मिलेगा बड़ा प्राइवेसी फीचर
मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार एंड्रॉयड 15 (Android 15) में यूजर्स को एक बड़ा प्राइवेसी फीचर मिलने वाला है. जिसके आने के बाद आप वीडियो कॉल के दौरान स्क्रीन तो शेयर कर पाएंगे लेकिन निजी जानकारी शेयर नहीं कर पाएंगे. उदाहरण के तौर पर देखें तो आप वीडियो कॉल पर बैंकिंग एप की स्क्रीन शेयर नहीं कर पाएंगे. इसके अलावा यदि आप वीडियो कॉल पर हैं तो आप किसी के साथ स्क्रीन शेयर पर पासवर्ड मैनेजर, बैंकिंग नोटिफिकेशन आदि को शेयर नहीं कर पाएंगे. गूगल ने अपने आप इसे डिसेबल कर देगा. 

इसका कोड नेम वनिला आईसक्रीम
गूगल ने लेटेस्ट ऑपरेटिंग सिस्टम को वनिला आईसक्रीम कोड नेम दिया है. नए फीचर को एंड्रॉयड 15 के डेवलपर वर्जन में देखा गया है, लेकिन एंड्रॉयड 15 बीटा 1.1 में इसे डिसेबल किया गया है. बता दें कि हाल ही में गूगल ने पिक्सल फोन के लिए पहला बीटा वर्जन रिलीज किया है. 

कैमरा क्वालिटी होगी शानदार
नए ऑपरेटिंग सिस्टम में ब्राइटनेस बूस्ट और एडवांस फ्लैश लाइट एडजस्टमेंट की सुविधा पेश की जा रही है. फोन के कैमरा को लेकर यह अपग्रेड बेस्ट क्वालिटी पिक्चर क्लिक करने में मददगार साबित होगा.

इसे भी पढ़ें-IPL2024 : IPL में 200 विकेट लेने वाले पहले खिलाड़ी बने चहल, जानिए कितनी दौलत है इनके पास?

ऐप इन्स्टॉल और डिलीट करना होगा आसान
अभी तक एंड्रॉइड फोन यूजर्स को फोन से कुछ ऐप्स डिलीट करने में परेशानी आती है. नए अपडेट के बाद यूजर आसानी से ऐप्स अनइंस्टॉल कर सकेंगे। इसी तरह ऐप्स को अर्काइव के साथ दोबारा इंस्टॉल भी किया जा सकेगा. आप अपने फोन के ऐप्स को वॉइस एक्टिवेशन फीचर्स के साथ इस्तेमाल कर सकेंगे. यह एप्पल सिरी की तरह काम करेगा.

टुथ पेयरिंग होगी बेहतर
एंड्रॉइड 15 अपडेट के साथ इस बार ब्लूटुथ पेयरिंग को लेकर बड़ा सुधार देखने को मिल सकता है. नए अपडेट के बाद अभी के मुकाबले ज्यादा दूरी तक की रेंज कवर की जा सकेगी.

हेल्थ स्टेटस को लेकर मिलेगी रिपोर्ट
नए एंड्रॉइड अपडेट के साथ आप अपनी हेल्थ का बेहतर ख्याल रख सकेंगे. यूजर्स दिन-भर में कितने कदम चला और किस तरह के न्यूट्रिशन की जरूरत है, जैसा डेटा हेल्थ अपडेट के साथ मिलेग


WhatsApp में फिर अपडेट, अब कॉलिंग में मिलेगा नया अनुभव

व्हाट्सऐप (WhatsApp) में लगातार अपडेट देखने को मिल रहे हैं. अब कंपनी यूजर्स को कॉलिंग का एक नया अनुभव देने की तैयारी कर रही है. अब बिना सेव नंबर पर भी यूजर्स व्हाट्सऐप कॉल कर पाएंगे.

बिजनेस वर्ल्ड ब्यूरो by
Published - Wednesday, 24 April, 2024
Last Modified:
Wednesday, 24 April, 2024
WhatsApp

लोकप्रिय मैसेजिंग ऐप व्हाट्सऐप (WhatsApp) में लगातार अपडेट हो रहे हैं. अगर आप व्हाट्सऐप यूजर हैं और इसके वॉयस कॉल फीचर (Voice Call Feature) में कुछ और ऑप्शन चाहते हैं, तो आपके लिए ये अच्छी खबर है. दरअसल व्हाट्सऐप वॉयस कॉल के लिए एक नया इंटरफेस (New Interface) डेवलप कर रहा है. इस नए फीचर से आपको इस ऐप पर कॉलिंग (WhatsApp Calling) का अलग अनुभव मिलेगा. तो चलिए आपको इस फीचर के बारे में जानकारी देते हैं? 

मिलेगा कॉलिंग डेडिकेटेड डायलर 
व्हाट्सऐप में ढेरों नए फीचर्स का फायदा यूजर्स को मिलता रहता है और उनसे मिलने वाले फीडबैक के आधार पर कंपनी मौजूदा फीचर्स में बदलाव करती है. अब व्हाट्सऐप अपने मेसेजिंग ऐप को कॉलिंग ऐप में बदलने की तैयारी कर रहा है और इससे जुड़ा एक बड़ा बदलाव देखने को मिलेगा. ऐप में जल्द कॉलिंग के लिए डेडिकेटेड डायलर दिया जाएगा.

जो नंबर सेव नहीं उन पर भी कर पाएंगे कॉल
व्हाट्सऐप पर यूजर्स को वीडियो और वॉइस कॉलिंग सुविधा लंबे समय से दी जा रही है. हालांकि, अब तक यूजर्स सिर्फ ऐसे नंबर पर ही कॉल कर पा रहे थे, जो उनके कॉन्टैक्ट लिस्ट में शामिल हैं, लेकिन अब कॉलिंग सेक्शन में डायलर आने से यूजर्स सीधे नंबर डायल करके कॉल कर सकेंगे.

बीटा वर्जन में मिले नए फीचर के संकेत
मीडिया रिपोर्ट्स में सामने आया है कि यह फीचर बीटा वर्जन में डिवेलपमेंट मोड में है. इससे जुड़े संकेत गूगल प्ले स्टोर (Google Play Store) पर मौजूद लेटेस्ट बीटा वर्जन 2.24.9.28 में मिले हैं. इस फीचर के साथ यूजर्स के लिए कॉलिंग करना बेहद आसान हो जाएगा और सीधे नंबर डायल किया जा सकेगा.

ये मिलेगा फायदा
नए फीचर के साथ संकेत मिले हैं कि यूजर्स के लिए वॉइस कॉलिंग का विकल्प आसान होने वाला है. प्लेटफॉर्म पर कॉलिंग का विकल्प लंबे वक्त से मिल रहा है और यह इंटरनेट डाटा का इस्तेमाल कॉलिंग के लिए करता है. इस तरह यूजर्स के लिए इंटरनेशनल कम्युनिकेशन भी आसान हो जाएगा और वे फटाफट वाईफाई या मोबाइल इंटरनेट का इस्तेमाल करते हुए कॉल कर सकते हैं.
 

इसे भी पढ़ें-बजाज ने लॉन्च की नई पल्सर, पहले से इतनी महंगी होगी ये बाइक


बजाज ने लॉन्च की नई पल्सर, पहले से इतनी महंगी होगी ये बाइक 

बजाज (Bajaj) ने इनवर्टेड फोर्क के साथ नई पल्सर N160 को लॉन्च किया है. इस नए मॉडल में काफी बदलाव किए गए हैं. वहीं, इसकी कीमत भी अब पहले से अधिक हो गई है. 

बिजनेस वर्ल्ड ब्यूरो by
Published - Wednesday, 24 April, 2024
Last Modified:
Wednesday, 24 April, 2024
Pulsar

बजाज (Bajaj) ऑटो ने बाजार में अपनी नई पल्सर N160 को लॉन्च कर दिया है. इसे खास इनवर्टेड फॉर्क के साथ लॉन्च किया गया है. इस वजह से इस नए मॉडल की कीमत पहले से अधिक हो गई है. इस बाइक में आपको कई कनेक्टिविटी फीचर्स भी मिलेंगे, जो आपको बहुत आकर्षित करेंगे. तो चलिए आपको इस बाइक के खास फीचर्स और कीमत की जानकारी देते हैं.   

नई पल्सर में हुए हैं ये बदलाव 
बजाज पल्सर N160 में स्मार्टफोन कनेक्टिविटी और कॉल और SMS अलर्ट, फोन बैटरी और सिग्नल इंडिकेटर के साथ एक LCD इंस्ट्रूमेंट कंसोल मिलता है साथ ही दोपहिया वाहन के टर्न इंडिकेटर्स अब LED यूनिट्स हैं और टैंक पर 'N160' अक्षर भी अलग है. इसके अलावा इंस्ट्रूमेंट कंसोल में मेनू के माध्यम से नेविगेट करने के लिए बाईं ओर के स्विचगियर को एक नए बटन के साथ बदल दिया गया है.

इस कीमत पर मिलेगी बाइक 
इनवर्टेड फोर्क के साथ नई बजाज पल्सर बाइक की कीमत 1.39 लाख रुपये (एक्स-शोरूम) है. यह बाइक पिछले मॉडल से 7,270 रुपये महंगी हो गई है. यानी खास फीचर्स की सुविधा मिलने के साथ आपको नई पल्सर खरीदने के लिए पैसे भी अधिक देने पड़ेंगे. 

इन बाइक्स को देगी टक्कर
इसमें 64.82cc, एयर/ऑयल-कूल्ड, सिंगल-सिलेंडर इंजन है, जो 16ps की पावर और 14.65Nm का टॉर्क पैदा करने में सक्षम है. ट्रांसमिशन के लिए इसे 5-स्पीड गियरबॉक्स से जोड़ा गया है. यह सेटअप इसे 44.38 किमी/लीटर का माइलेज देने में सक्षम है. ड्यूल-चैनल ABS के साथ दोनों सिरों पर डिस्क ब्रेक की सुविधा दी गई है. यह बाइक हीरो एक्सट्रीम 160R 4V, यामाहा FZ-S Fi V3.0, सुजुकी जिक्सर और TVS अपाचे RTR 160 4V को टक्कर देगी. 

इसे भी पढ़ें-ऑनलाइन ठगों की अब खैर नहीं, सरकार ओटीपी फ्रॉड के लिए ला रही ये प्लान


देश का पहला All-In-one पेमेंट डिवाइस हुआ लॉन्च, जानिए क्या है इसमें खास?

इस फिनटेक कंपनी ने भारत के पहले ऑल-इन-वन पेमेंट प्रोडक्ट को लॉन्च कर दिया है. पेमेंट प्रोडक्ट में पीओएस प्वाइंट ऑफ सेल, क्यूआर और स्पीकर डिवाइस भी शामिल है.

बिजनेस वर्ल्ड ब्यूरो by
Published - Wednesday, 24 April, 2024
Last Modified:
Wednesday, 24 April, 2024
All in one payment

फिनटेक कंपनी भारतपे (BharatPe) ने भारत का पहला ऑल-इन-वन पेमेंट प्रोडक्ट लॉन्च कर दिया है. इसमें पीओएस (प्वाइंट ऑफ सेल), क्यूआर और स्पीकर को एक ही डिवाइस में शामिल किया गया है. BharatPe वन प्रोडक्ट व्यापारियों के लिए लेनदेन को सुविधाजनक बनाने के लिए डिजाइन किया गया है, जो गतिशील और स्थिर क्यूआर कोड, टैप-एंड-पे और ट्रेडिशनल कार्ड पेमेंट ऑप्शन समेत वर्सटाइल पेमेंट एक्सेप्टेंस ऑप्शन देता है.

यह है कंपनी की प्लानिंग

कंपनी की योजना है कि पहले चरण में 100 से अधिक शहरों में प्रोडक्ट लॉन्च कर अगले छह महीनों में इसे 450 से अधिक शहरों में विस्तारित करने की है. BharatPe के सीईओ नलिन नेगी ने कहा कि 'कई तरह के काम को एक डिवाइस में जोड़कर हम कई सेक्टर में छोटे और मध्यम व्यवसायों की कई जरूरतों के अनुरूप एक व्यापक समाधान प्रदान कर रहे हैं'. कंपनी के अनुसार यह डिवाइस व्यापारियों और ग्राहकों दोनों के लिए एक सहज और परेशानी मुक्त अनुभव प्रदान करती है.

ऑनलाइन ठगों की अब खैर नहीं, सरकार ओटीपी फ्रॉड के लिए ला रही ये प्लान

एक मशीन करेगी इतने काम 

उपयोगकर्ता के अनुकूल इंटरफेस, पोर्टेबल डिजाइन और व्यापक लेनदेन डैशबोर्ड के साथ, BharatPe वन ऑफलाइन व्यापारियों की विविध आवश्यकताओं को पूरा करता है. BharatPe वन को व्यापारियों के लिए लेनदेन को सुव्यवस्थित करने के लिए डिजाइन किया गया है, जो डेबिट और क्रेडिट कार्ड की वाइड रेंज में गतिशील और स्थिर क्यूआर कोड, टैप-एंड-पे और ट्रेडिशनल कार्ड पेमेंट ऑप्शन सहित वर्सटाइल पेमेंट एक्सेप्टेंस विकल्प प्रदान करता है. BharatPe के सीईओ नलिन नेगी ने कहा कि कॉस्ट इफेक्टिव डिवाइस में कई कार्यक्षमताओं को जोड़कर, हम विभिन्न क्षेत्रों में छोटे और मध्यम व्यवसायों की विभिन्न आवश्यकताओं के अनुरूप एक व्यापक समाधान प्रदान कर रहे हैं.

मजबूत, फास्ट और सुरक्षा जनक होगी पेमेंट

कंपनी का कहना है कि यह हाई-डेफिनिशन टचस्क्रीन डिस्प्ले, 4जी और वाई-फाई कनेक्टिविटी से लैस है और लेटेस्ट एंड्रॉइड ऑपरेटिंग सिस्टम से चलने वाला यह BharatPe प्रोडक्ट बेहतर प्रदर्शन और सुरक्षा देती है. BharatPe में पीओएस सॉल्यूशंस के मुख्य व्यवसाय अधिकारी रिजीश राघवन ने कहा कि परीक्षण के चरण में हमें अपने व्यापारियों से जबरदस्त प्रतिक्रिया मिली है और हमारा मानना है कि यह डिजिटल पेमेंट इकोसिस्टम के लिए एक और गेम चेंजर होगा, जिससे फिनटेक इंडस्ट्री में अग्रणी के रूप में हमारी स्थिति और मजबूत होगी. 
 


ऑनलाइन ठगों की अब खैर नहीं, सरकार ओटीपी फ्रॉड के लिए ला रही ये प्लान 

ओटीपी (OTP) के जरिए लोगों के साथ तेजी से ऑनलाइन फ्रॉड हो रहा है. इससे पढ़े-लिखे लोग भी नहीं बच पा रहे हैं. वहीं, अब केंद्र सरकार लोगों को इससे बचाने के लिए एक नया प्लान लेकर आ रही है.

बिजनेस वर्ल्ड ब्यूरो by
Published - Wednesday, 24 April, 2024
Last Modified:
Wednesday, 24 April, 2024
Online Fraud

देश में ऑनलाइन ठगी के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं. पढ़े-लिखे लोग तक इसका शिकार हो रहे हैं. ऐसे में केंद्र सरकार इस ओटीपी फ्रॉड से बचाव के लिए एक नया प्लान लेकर आ रही है. अभी सरकार टेलीकॉम ऑपरेटरों और एसबीआई कार्ड के साथ मिलकर इस योजना का परीक्षण कर रही है. जल्द इसे लागू किया जाएगा, तो चलिए आपको बताते हैं ऑनलाइन ठगी से बचाव के लिए क्या है सरकार का प्लान?

ओटीपी के बारे में मिलेगी चेतावनी 
गृह मंत्रालय ने एसबीआई कार्ड और टेलीकॉम ऑपरेटरों के साथ मिलकर साइबर धोखाधड़ी और फिशिंग हमलों के बढ़ते खतरों से निपटने के लिए धोखे से हासिल हुए वन टाइम पासवर्ड (ओटीपी) के बारे में चेतावनी देने की एक रणनीति पर काम करना शुरू कर दिया है. सूत्रों के अनुसार इसमें ग्राहकों के पंजीकरण पते के साथ साथ उनके सिम की लोकेशन और ओटीपी किस जगह मंगवाया गया है,  इसका मिलान किया जाएगा और इनके बीच किसी भी तरह का अंतर पाए जाने पर ग्राहक को संभावित फिशिंग हमले के बारे में सचेत किया जाएगा.  

इस दो विकल्पों पर हो रहा काम
मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार इस सामाधन पर अभी काम किया जा रहा है. लेकिन योजना के अनुसार दूरसंचान कंपनियों की मदद से ग्राहकों का डेटाबेस जांच कर ही ओटीपी को भेजा जाएगा. हाल ही में भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने धोखाधड़ी से निपटने के लिए किसी भी डिजिटल भुगतान लेन-देन के लिए प्रमाणीकरण की अतिरिक्त जांच किए जाने पर जोर दिया था. सूत्रों के अनुसार इस मामले से निपटने के लिए दो विकल्पों पर काम किया जा रहा है. पहला ओटीपी की डिलवरी की जगह और ग्राहक के सिम की लोकेशन में किसी तरह का अंतर मिलने पर गाहक को डिवाइस पर अलर्ट पॉपअप किया जाएगा. वहीं दूसरा ओटीपी को पूरी तरह से ब्लॉक किया जा सकता है. 

ठग इस तरह फंसाकर मांगते हैं ओटीपी
मोबाइल से पैसे उड़ाने के इस खेल में ओटीपी एक अहम भूमिका निभाता है. कस्टमर केयर एजेंट और दोस्त बनकर ओटीपी हासिल करके इस आनलाइन धोखाधड़ी को अंजाम दिया जाता है. कई बार सिम बंद होने, बैंक अकाउंट बंद होने और बिजली कनेक्शन काटने का डर दिखाकर केवाईसीअपडेट  के नाम पर ओटीपी फ्रॉड किया जाता है. मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार इस तरह के फ्रॉड को ज्यादातर चीन, कंबोडिया और म्यांमार से अंजाम दिया गया है.

इसे भी पढ़ें-Happy Birthday: ये हैं देश के सबसे अमीर क्रिकेटर, जानते हैं कितनी दौलत है इनके पास?

धोखाधड़ी से ऐसे बचें

मोदा सरकार ऐसी रणनीति तैयार कर रही है, जिसमें धोखा देने वालों की तुरंत पहचान हो जाएगी. साल 2023 में 11,28,265 मामले साइबर फ्रॉड के आए, इस दौरान लोगों से 7489 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी हुई. अगर आपको ऑनलाइन फ्रॉड से बचना है तो अपना बैंकिंग डेटा, जैसे पासवर्ड या फिर यूजर नेम को कभी भी मोबाइल, ईमेल या पर्स में स्टोर न करें. ऑनलाइन बैंकिंग के लिए सिर्फ वेरिफाइड, सेफ और भरोसेमंद वेबसाइटों का ही इस्तेमाल करें. पब्लिक या फ्री नेटवर्क जैसे सार्वजनिक वाईफाई के माध्यम से बैंकिंग न करें. 

धोखाधड़ी होने पर सबसे पहले करें ये काम
अगर आपके साथ ऑनलाइन धोखाधड़ी हुई है तो सबसे पहले अपने बैंक या क्रेडिट कार्ड कंपनी को इसकी सूचना दें. इसके बाद तुरंत अपने खाते या कार्ड को ब्लॉक कराना चाहिए, ताकि ठग और पैसे न निकाल लें. इसके बाद साइबर क्राइम पोर्टल पर शिकायत करें. साथ ही नजदीकी पुलिस स्टेशन में शिकायत भी दर्ज कराएं.
 


WhatsApp में बड़ा अपडेट, अब बिना इंटरनेट भेजिए फोटो, वीडियो

व्हाट्सएप (WhatsApp) जल्द ही अपने यूजर्स को एक नया फीचर देने वाला है. इसमें आपको फोटो, वीडियो भेजने के लिए इंटरनेट की जरूरत नहीं होगी.

Last Modified:
Tuesday, 23 April, 2024
WhatsApp

व्हाट्सएप (WhatsApp) में जल्द ही एक नया बदलाव होने जा रहा है. ये बदलाव यूजर्स के बहुत काम आने वला है. खासकर तब जब आपके पास इंटरनेट न हो और आपको किसी को फोटो या वीडियो शेयर करना हो, तो चलिए जानते हैं क्या है ये नया अपडेट और इससे आपको क्या लाभ मिलेगा?

मीडिया शेयर करने के लिए इंटरनेट की जरूरत नहीं
कई बार इंटरनेट न होने या इंटरनेट में दिक्कत होने के चलते व्हाट्सएप पर यूजर्स को फोटो या वीडियो शेयर करने में परेशानी आती है, लेकिन अब इस समस्या का हल निकाल लिया गया है. जानकारी के अनुसार WhatsApp एक बहुत ही बड़े फीचर पर काम कर रहा है, जिसके आने के बाद मीडिया और फाइल भेजने के लिए इंटरनेट की जरूरत नहीं होगी. नए फीचर को लेकर लीक रिपोर्ट सामने आई हैं. इस फीचर के रिलीज होने के बाद फोटो, वीडियो, म्यूजिक और डॉक्यूमेंट को ऑफलाइन भी शेयर किया जा सकेगा.

चल रही टेस्टिंग 

व्हाट्सएप के इस नए फीचर्स को लेकर एक जानकारी सामने आई है. मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार बिना इंटरनेट शेयर की जाने वाली ये फाइल एंक्रिप्टेड और सिक्योर होंगी. नए फीचर का एक स्क्रीनशॉट भी सामने आया है. इस फीचर की फिलहाल बीटा टेस्टिंग हो रही है. नया फीचर एंड्रॉयड के नियरबाय सिस्टम पर काम करता है. नियरबाय का नाम अब क्विक शेयर हो गया है और यह ब्लूटुथ के जरिए एक कनेक्शन बनाता है, जिसके जरिए आसपास की दो डिवाइस के बीच फाइल शेयर की जाती हैं.

ऐसे काम करेगा फीचर
इस फीचर को इस्मेमाल करने के लिए आपको कुछ परमिशन देनी होगी, जैसे कि अपने आसपास के उन फोनों को ढूंढने की परमिशन देनी होगी, जिस पर ये फीचर बेस्ड है. इसके अलावा व्हाट्सएप को अपनी फोटो गैलरी का एक्सेस भी देना होगा. वहीं, करेंट लोकेशन की भी परमिशन देनी होगी. यह फीचर काफी हद तक एपल के एयरड्रॉप, ShareIT और गूगल के क्विक शेयर की तरह काम करेगा. इस टेक्निक में सेलुलर इंटरनेट और वाई-फाई कनेक्शन के बिना फाइल शेयर की जाती हैं. केवल आप बिना इंटरनेट मैसेज नहीं भेज पाएंगे. अगर आपको इस फीचर का इस्तेमाल नहीं करना तो आप इसे बंद भी कर सकते हैं.

इसे भी पढ़ें-SEBI ने इन कंपनियों के IPO को दी मंजूरी, करोड़ों के शेयर होंगे जारी, निवेश का शानदार मौका
 


Nokia ला रहा The Boring Phone, इसकी खासियत जान हो जाएंगे हैरान!

नोकिया (Nokia) एक ऐसा फोन लेकर आ रही है जिसे देखकर आप हैरान होने वाले हैं. इंटरनेट और सोशल मीडिया के इस दौर में ये फोन आपको रेट्रो की दुनिया का अनुभव कराएगा. 

Last Modified:
Tuesday, 23 April, 2024
The Boring Phone

आज टेक्नोलॉजी के दौर में एक से बढ़कर एक स्मार्टफोन बन रहे हैं. ऐसे में नोकिया एक ऐसा फोन लेकर आ रहा है, जिसे देख आपके होश उड़ने वाले हैं. ये फोन आज के दौर के स्मार्टफोन से बिल्कुल अलग है.  हो सकता है ये फोन आपको फनी लगे क्योंकि ये आरको एक पुराने दौर की याद दिलाएगा, तो चलिए जानते हैं क्या है इस फोन की खासियत?

फोन बनाने के लिए बियर कंपनी से पार्टरशिप
नोकिया (Nokia) के फोन बनाने वाली कंपनी HMD ग्लोबल अब नोकिया ब्रैंडिंग के साथ बहुत जल्द बाजार में द बोरिंग फोन (The Boring Phone) लेकर आने वाली है. इस फोन में आपको कंपनी की तरफ से यूनिक डिजाइन और बेहतरीन फीचर्स दिए जाएंगे. इस फोन को बनाने के लिए कंपनी ने एक बियर बनाने वाली कंपनी हेनकेन (Heineken) और फैशन लेबल बोडेगा (Bodega) के साथ पार्टनरशिप की है. इस फोन को लेकर की तरह की लीक्स भी सामने आ चुके हैं. 

ये होंगे फीचर्स
कई बार स्मार्टफोन में आने वाले नोटिफिकेशन्स यूजर्स के लिए बड़ा सिरदर्द बन जाते इसी समस्या को ध्यान में रखते हुए कंपनी एक बेसिक फीचर्स के साथ इस फोन को मार्केट में उतारएगी. 
1.इस बोरिंग फोन को एचएमडी ट्रांसपेरेंट डिजाइन और फ्लिप स्टाइल के साथ लॉन्च होगा. आज कंपनियां अपने स्मार्टफोन मेंकई  फीचर्स दे रही हैं, उसके सामने यह फोन आपको जरूरी बोरिंग लग सकता है लेकिन इसमें आपको फ्लिप के साथ ट्रांसपेरेंट डिजाइन काफी अट्रैक्ट करने वाला है.

2.इसमें आपको सोशल मीडिया चैनल चलाने का कोई ऑप्शन नहीं मिलेगा. हालांकि इसमें नोकिया का पुराना क्लासिक स्नेक गेम जरूर मिलेगा..

3.नोकिया के इस फोन में ग्राहकों को अंदर की तरफ 2.8 इंच की स्क्रीन मिलेगी, जबकि फ्लिप कवर में बाहर की तरफ  1.77 इंच का डिस्प्ले मिलेगा. 
इसमें आपको 0.3 मेगापिक्सल का कैमरा भी मिलेगा. 

4.कंपनी का दावा है कि ग्राहकों को इस फोन में लंबी बैटरी लाइफ मिलेगी, जिससे इसे बार बार चार्जिंग पर नहीं लगाना पड़ेगा. इसे एक बार चार्ज करने पर एक हफ्ते तक का स्टैंडबाय टाइम और 20 घंटे तक का टॉकटाइम मिलता है.

5. फोन में आपको 2G, 3G और 4G की कनेक्टिविटी मिलेगी. बिल्कुल पिछली पीढ़ी के फीचर फोन और रेट्रो फोन की तरह काम करेगा. इसका उपयोग कॉल करने और टेक्स्ट मैसेज भेजने या पाने के लिए किया जा सकता है.

6.दूसरे फ्लिप फोन की तरह इसमें भी कवर स्क्रीन को बंद करके कॉल कट की जा सकती है. फोन में 2000 के दशक के शुरुआती मोबाइल फोन के समान ट्रांसपेरेट लुक और होलोग्राफिक स्टिकर हैं. इसका डिजाइन Nokia 2660 Flip से मेल खाता है.

ऐसे मिलेगा फोन
फिलहाल ये फोन सेल पर नहीं जा रहा है, बल्कि यह आपको गिवेअवे (Giveaway)के माध्यम से उपलब्ध होगा. कंपनी से अभी इसकी सेल को लेकर कोई पुष्टि नहीं की है. हेनेकेन की वेबसाइट पर बताया गया है कि फोन की 5,000 यूनिट्स बनाई जाएंगी. अगर कोई इसे खरीदना चाहता है तो हेनेकेन की वेबसाइट पर साइन अप करके इस डिवाइस की उपलब्धता के बारे में अधिक जानकारी ले सकता है.

 

 

इसे भी पढ़ें-Happy Birthday: कभी जेब में नहीं थे पैसे, आज करोड़पति; दिलचस्प है इस 'एक बंदे' की कहानी


जुकरबर्ग ने क्‍यों खरीदा था Instagram, सामने आई असली वजह

इंस्‍टाग्राम की शुरूआत 2010 में हुई थी उसके बाद इसके नेटवर्क में तेजी से इजाफा हुआ और इसके नेटवर्क में लाखों यूजर शामिल हो गए. 

Last Modified:
Tuesday, 23 April, 2024
Zukerberg

कारोबार की दुनिया में होने वाले सौदों के पीछे भले ही कंपनियां कोई भी वजह बताती हों लेकिन सच ये है कि कई बार हकीकत कुछ अलग ही होती है. कुछ ऐसा ही मामला फेसबुक के द्वारा इंस्‍टाग्राम को खरीदे जाने के मामले को लेकर हुआ है. एक लीक ईमेल से ये खुलासा हुआ है कि आखिर मार्क जुकरबर्ग की इंस्‍टाग्राम को खरीदने की असली वजह क्‍या थी. क्‍यों उन्‍होंने एक अरब डॉलर में 2012 में इंस्‍टाग्राम को खरीद लिया था. 

इंस्‍टाग्राम की इस साल हुई थी शुरुआत 
इंस्‍टाग्राम की शुरूआत 2010 में हुई थी. ये ऐप लोगों को इतना पसंद आया कि लॉन्‍च होने के कुछ सालों के अंदर ही इसके करोड़ों यूजर बन गए. इंस्‍टाग्राम मुख्‍य रूप से फोटो और वीडियो शेयररिंग प्‍लेटफॉर्म था और लॉन्‍च होने के दो सालों के अंदर ही इसके यूजर की संख्‍या लगातार तेजी से बढ़ने लगी. इसी बीच फेसबुक के मालिक मार्क जुकरबर्ग की नजर में भी इसकी ग्रोथ आई. इसके तेजी से बढ़ते नेटवर्क ने उन्‍हें बहुत कुछ सोचने पर मजबूर कर दिया. उन्‍हें इसमें अपना कॉम्‍पटीटर दिखाई देने लगा. 

ये भी पढ़ें: Nestle के बाद अब देशभर में शुरू हुई इन प्रोडक्‍ट की जांच, ये है इसका मकसद

इतने अरब में हुआ दोनों के बीच सौदा 
मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, मॉर्क जुकरबर्ग ने इस ऐप के तेजी से बढ़ते नेटवर्क को लेकर फेसबुक के सीएफओ डेविड एबर्समैन को एक ईमेल लिखा और उसमें कई अहम बातें लिखी. उन्‍होंने अपने मेल में लिखा कि इंस्‍टाग्राम जैसी कंपनियों के आज लाखों यूजर हैं.इनकी ग्रोथ तो तेज है लेकिन इनकी टीम छोटी है और इनकी ग्रोथ काफी तेजी से हो रही है. मौजूदा समय में इनके पास भले ही बिजनेस न हो लेकिन ये अपना नेटवर्क बना चुकी हैं. अगर ये कंपनियां बढ़ती हैं तो हमारे लिए परेशानी पैदा हो सकती है. 

1 अरब में हो गया कंपनी का सौदा 
इंस्‍टाग्राम का वैल्‍यूएशन 1 अरब डॉलर आंका गया था. लेकिन आज इस ऐप की वैल्‍यू 500 अरब डॉलर तक जा पहुंची है. मार्क जुकरबर्ग ने इसी वैल्‍यूएशन को ध्‍यान में रखते हुए लिखा कि अगर कोई इन्‍हें 50 करोड़ या 100 करोड़ का ऑफर किया जाए तो ये फेसबुक के साथ काम करने को तैयार हो सकते हैं. हालांकि अभी इस ईमेल पर फेसबुक या मेटा की ओर से किसी भी प्रकार का जवाब नहीं आया है. 
 


iPhone 17 सीरीज के फीचर्स हुए लीक, जानते हैं इसमें क्या होगा नया?

Apple की iPhone 17 सीरीज अगले साल लॉन्च होगी, लेकिन इसके फीचर्स से जुड़ी कुछ जानकारी अभी से ही सामने आ गई है. जानकारी के अनुसार इसमें Android स्मार्टफोन जैसा डिस्प्ले फीचर मिल सकता है.

Last Modified:
Monday, 22 April, 2024
iphone 17 leak Features

एप्पल (Apple) के iPhone 16 Series के लॉन्च से पहले ही iPhone 17 Series की जानकारी लीक हो गई हैं. iPhone 16 को कंपनी इस साल लॉन्च करने वाली है. वहीं, iPhone 17 को कंपनी अगले साल यानी साल 2025 में लॉन्च करेगी. इस फोन के लॉन्च की डेट रिलीज होने से पहले ही इसके फीचर्स से जुड़ी कई जानकारी लीक्स हो गए हैं, तो चलिए जानते है इस फोन में आको क्या खास फीचर्स मिलने वाले हैं?  

Apple iPhone 17 Plus में मिलेगा छोटा डिस्प्ले
डिस्प्ले स्प्लाई चेन कंसल्टेंट्स (Display Supply Chain Consultants -DSCC) के सीईओ (CEO) रोस यॉन्ग (Ross Young) ने अपनी रिपोर्ट में iPhone 17 सीरीज के तहत आने वाले Plus मॉडल का डिस्प्ले साइज रिवील किया है. इसे लेकर Apple Hub नाम के वेरिफाइड ट्विटर हैंडल से भी एक पोस्ट शेयर की गई है, जिसमें सोर्स में सीएससीसी लिखा हुआ है. आपको बता दें, कंपनी ने  iPhone 14 सीरीज के बाद से मिनी मॉडल का लॉन्च बंद कर दिया है. ऐसी चर्चा है कि iPhone 17 के साथ कंपनी वापस से छोटी डिस्प्ले वाले फोन लाने शुरू कर देगी. iPhone 17+ में iPhone 15+ से छोटा डिस्प्ले मिल सकता है. हालांकि अभी तक iPhone 17 Plus के डिस्प्ले का साइज सामने नहीं आया है. आपको बता दें, iPhone 15+ में 6.7 इंच का Super Retina XDR OLED पैनल दिया गया है. इसका मतलब है कि अपकमिंग iPhone 17+ में इससे छोटा डिस्प्ले मिलेगा.

मिलेगा 120Hz LTPO पैनल
जानकारी के अनुसार iPhone 17 और iPhone 17 Plus पहले ऐसा मॉडल होंगे, जिनमें LTPO पैनल मिलेगा और इनकी डिस्प्ले का रिफ्रेश रेट 120hz होगा. यह डिस्प्ले बेहतर डायनैमिक रिफ्रेश रेट फीचर को सपोर्ट करता है, जिसकी वजह से 1Hz से 120Hz के बीच डिस्प्ले ऑटोमैटिकली एडजस्ट हो जाता है. कई मिड और प्रीमियम Android स्मार्टफोन में यह डिस्प्ले मिलता है. एप्पल ने अपकमिंग आईफोन मॉडल्स के लिए चीनी कंपनी BOE के साथ साझेदारी की है. 

बेहतर सेल्फी कैमरा
इसके अलावा लीक रिपोर्ट के अनुसार iPhone 17 सीरीज में 24MP का सेल्फी कैमरा मिल सकता है. इस फोन का कैमरा मॉड्यूल इलेक्ट्रिक रेजर की तरह हो सकता है. हालांकि, एप्पल की तरफ से अपकमिंग आईफोन सीरीज की कोई भी जानकारी आधिकारिक तौर पर रिवील नहीं की गई है. वहीं, आगे इससे संबंधित अन्य जानकारियां भी सामने आ सकती हैं.

इसे भी पढ़ें-हाइब्रिड म्यूचुअल फंड में लोग ज्यादा लगा रहे हैं पैसा?, जानते हैं क्या है इसका कारण?

बैटरी की खपत होगी कम
पिछले साल आई iPhone 15 सीरीज में Super Ratina डिस्प्ले दिया गया है. यह डिस्प्ले फोन की बैटरी की ज्यादा खपत करता है. वहीं, iPhone 17 सीरीज की डिस्प्ले में ऑल्वेज-ऑन फंक्शन मिलता है, जिसकी वजह से डिस्प्ले फोन की बैटरी खपत नहीं होती है.  कंपनी इसके अलावा प्रो मॉडल्स को छोड़कर दोनों बेसिक मॉडल के कई और हार्डवेयर फीचर में बदलाव कर सकती है, जिसकी वजह से फोन की कीमत कम हो सकती है. 

ये है बदलाव के कारण
इस संभावित परिवर्तन का उद्देश्य प्लस मॉडल को प्रो मैक्स वेरिएंट से अलग करना है, जिससे उपभोक्ताओं को एप्पल के लाइन-अप के भीतर स्क्रीन आकार विकल्पों की एक विस्तृत श्रृंखला मिले और iPhone इस्तेमाल करने का एक नया और अलग अनुभव प्राप्त हो सके. 


इन बातों का रखेंगे ध्यान, तो नहीं होंगे AI वॉयस क्लोनिंग स्कैम के शिकार

टेक्नोलॉजी के इस दौर में एक ओर AI बहुत फायदेमंद है. वहीं, इसके कुछ नेगेटिव प्रभाव भी सामने आने लगे हैं. आजकल AI Voice Cloning Scam के जरिए लोगों के साथ ठगी होनी लगी है.

Last Modified:
Saturday, 20 April, 2024
AI Voice Cloning

आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस (AI ) के बढ़ते प्रभाव के बीच अपराधियों ने इसे ठगी करने का हथियार भी बना लिया है. इसमें स्कैमर्स आपके अपनों की आवाज में ही आपसे बात करते हैं और पैसों की डिमांड करते हैं, इससे बहुत से लोग कन्फ्यूज हो जाते हैं और पैसे दे भी देते हैं, लेकिन बाद में पता चलता है कि उनके साथ स्कैम हुआ है. आपको बता दें, एआई वॉयस क्लोनिंग स्कैम (AI Voice Cloning Scam ) के जरिए ठग लोगों को लूट रहे हैं. अगर आप इस स्कैम से बचना चाहते हैं, तो इन बातों का ध्यान रखें.

एआई वॉयस क्लोनिंग अपराधियों का नया हथियार
एआई ने काफी कम समय में कई क्षेत्रों में अपना प्रभाव दिखा दिया है. एक तरफ एआई जहां लोगों के लिए काफी फायदेमंद साबित हो रहा है. वहीं, अपराधियों के लिए ये एक नया हथियार बन चुका है. इस अपराध में अहम जानकारियों के जरिए लोगों को आर्थिक तौर पर ठगा जाता है. मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार अपराधी एआई टूल की मदद से लोगों की आवाज की कॉपी कर लेते हैं. इसके बाद उस वॉयस को एआई टूल की मदद से बिल्कुल समान तरीके के साथ तैयार किया जाता है. अपराधी इस नकली आवाज को पीड़ित के दोस्तों, रिश्तेदारों और जान पहचान वालों के खिलाफ इस्तेमाल करते हैं. इस दौरान अपराधी उनसे पैसों के साथ ही किसी तरह की खास या फिर कोई गोपनीय जानकारी भी ले लेते हैं. 

ऐसे बनाते हैं शिकार
एआई की मदद से तैयार नकली आवाज को पहचानना आसान नहीं है, बल्कि बहुत मुश्किल है. लेकिन, कुछ बातों को याद रखकर इससे बचा जा सकता है. एआई वॉयस क्लोनिंग स्कैम के अंतर्गत अपराधी आपको कॉल करके नकली आवाज के इस्तेमाल के जरिए सुरक्षित शब्दों का इस्तेमाल करते हैं. वो कॉल पर आपसे पैसे या किसी खास तरह की जानकारी की मांग करते हैं. 

स्कैम से ऐसे बचें
अगर कोई आपको फोन करके पैसे मांगता है, तो पहले उससे कोई पर्सनल सवाल पूछकर उसकी पहचान कंफर्म करें. ऐसा करके आप वॉयस क्लोनिंग का शिकार होने से बच सकते हैं. इसके अलावा कुछ भी गलत लगने पर आप वीडियो कॉल का सहारा ले सकते हैं. कभी भी फोन पर पैसों और कीमती जानकारी को साझा न करें. फोन कॉल पर अगर कोई आपसे किसी स्टेप को फॉलो करके ऐप या वेबसाइट पर जाने के लिए कहे, तो आपको सावधान हो जाएं. आप कभी भी पैसों को एक फोन कॉल आने पर ही ट्रांसफर न करें, बल्कि किसी अन्य तरीके से उस जानकारी को वेरिफाई करें. अगर फोन कॉल पर आपको कुछ भी अजीब या शंका पैदा करने वाला लगे, तो तुरंत उसकी रिपोर्ट करें. इस तरह आप स्कैम से बच सकते हैं.

इसे भी पढ़ें-इन दो बैंकों ने बदले सेविंग अकाउंट के नियम, जानिए अगर आपका भी है खाता