आ गया Samsung का सबसे स्लिम स्मार्टफोन, इस दिन होगा लॉन्च, जानें कीमत और फीचर्स?

Samsung Galaxy F55 5G का इंतजार भारतीय काफी समय से कर रहे हैं. लेकिन अब   इंतजार खत्म होगा और 27 मई को ये फोन भारतीय ग्राहकों के लिए लॉन्च कर दिया जाएगा. 

Last Modified:
Monday, 20 May, 2024
BWHindi

अगर आप Samsung Galaxy F55 5G के लॉन्च होने का इंतजार कर रहे हैं, तो अब ये इंतजार खत्म होने वाला है. साल की शुरूआत से ही सैमसैंग के जिस फोन की चर्चा हो रही है, आखिरकार उसकी लॉन्च डेट सामने आ गई है. सैमसंग गैलेक्सी F55 5G का टीजर फ्लिपकार्ट पर लाइव हो गया है. ऐसे में जानकारी सामने आ गई है कि ये फोन अब 27 मई दोपहर 1 बजे फोन लॉन्च किया जाएगा. तो चलिए आपको इस फोन की कीमत और फीचर्स की जानकारी देते है. 

टीजर में नजर आया फोन का क्लासी लुक
हाल में Samsung द्वारा जारी टीजर में ये जानकारी सामने आई थी कि ये Galaxy F55 5G वीगन लेदर डिजाइन के साथ एंट्री करेगा. टीजर में फोन का लुक और डिजाइन भी बेहद आकर्षक नजर आया. ये फोन ऑरेंज कलर और ब्लैक कलर ऑप्शन में मिलेगा और इसे एक्सक्लूसिव तौर पर फ्लिपकार्ट पर सेल के लिए उपलब्ध कराया जाएगा. कंपनी का दावा है कि ये अपने सेगमेंट का सबसे स्लिम फोन होगा.

ये मिलेंगे फीचर्स

सैमसंग गैलेक्सी F55 5G को 8जीबी रैम, 256जीबी के साथ आएगा. इसमें FHD+ रेजोल्यूशन वाला 6.7 इंच का बड़ा Super AMOLED Plus डिस्प्ले होने की बात सामने आई है. ये फोन पंच-होल स्क्रीन और इसे 120Hz रिफ्रेश रेट के साथ पेश किया जाएगा. ये फोन बैटरी बचाने और समय और अलर्ट दिखाने के लिए ऑलवेज-ऑन फीचर को भी सपोर्ट करेगा. इस फोन में स्नैपड्रैगन 7 जेन 1 चिपसेट क्वालकॉम प्रोसेसर मिल सकता है, और इसके साथ एड्रीनो GPU भी होगा. पावर के लिए फोन 5000mAh की बैटरी दिए जाने की बात सामने आई है और ये 45W फास्ट चार्जिंग सपोर्ट के साथ आएगी.

इसे भी पढ़ें-भारतीय नागरिकता मिलने के बाद Akshay Kumar ने पहली बार दिया वोट, लोगों को दिया ये संदेश

कैमरा भी जबरदस्त
इस फोन में 50 मेगापिक्सल का प्राइमेरी लेंस, 8 मेगापिक्सल का अल्ट्रावाइड लेंस और 2 मेगापिक्सल का मैक्रो सेंसर के साथ पीछे की तरफ ट्रिपल-रियर कैमरा सिस्टम होगा. मेन लेंस में ऑप्टिकल इमेज स्टेबिलाइजेशन (OIS) सपोर्ट होने की बात सामने आई है. सेल्फी के लिए फोन में 50 मेगापिक्सल का फ्रंट कैमरा दिया जाएगा. इसके कैमरे से 4K वीडियो शूट की जा सकेगी.

ये होगी कीमत
सैमसंग ने ट्वीट कर इस फोन की कीमत को लेकर संकेत दिए हैं. सैमसंग ने अपने ट्वीट में कहा है कि इसकी शुरुआती कीमत 2X999 हो सकती है. इससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि इस फोन को 20 हजार रुपये से लेकर 29,999 रुपये के बीच में लॉन्च किया जा सकता है.

 


Jio अब Apple से करेगी मुकाबला! आधी कीमत में लेकर आई ये नया प्रोडक्ट

बाजार में अब Apple के AirTag को टक्कर देने के लिए Jio ने अपना एक नया प्रोडक्ट लॉन्च कर दिया है. इसकी कीमत Apple के प्रोडक्ट से आधी है. 

Last Modified:
Monday, 22 July, 2024
BWHindia

जियो (Jio) ने एप्प्ल (Apple) के AirTag से मुकाबला करने के लिए Jio AirTag लॉन्च कर दिया है. ये काफी काम का डिवाइस है और इसकी कीमत एप्पल के एयरटैग से लगभग आधी है. तो आइए जानते हैं क्या है जियो एयरटैग की कीमत और आप इसका इस्तेमाल कैसे कर सकते हैं?

किस काम आता है एयरटैग?
Apple AirTag के बारे में तो ज्यादातर लोगों ने सुना होगा, लेकिन अब जियो ने भी अपना एयरटैग लॉन्च कर दिया है. एयरटैग एक ट्रैकिंग डिवाइस है, जिसकी मदद से आप किसी भी सामान को आसानी से सर्च कर सकते हैं. आपको बता दें, जियो एयरटैग ब्लूटूथ से कनेक्ट हो जाता है. साथ ही इसे iOS के Find My Device में भी यूज किया जा सकता है. यानी कुल मिलाकर देखा जाए तो ये आपके लिए एप्पल के मुकाबले काफी अच्छा ऑप्शन साबित हो सतका है.

इतनी है कीमत 
जियो एयरटैग की कीमत 1499 रुपये है. जबकि एप्पल के एयरटैग को खरीदने के लिए आपको 2,999 रुपये खर्च करने होंगे. ऐसे में जियो एयरटैग आपके लिए काफी सस्ता है. जियो एयरटैग को आप जियो की ऑफिशियल वेबसाइट या अमेजन (Amazon) से भी ऑर्डर कर सकते हैं. अभी इसकी सेल शुरू भी हो चुकी है. इस डिवाइस को 3 कलर ऑप्शन में लॉन्च किया गया है.

इसे भी पढ़ें-सरकारी तेल कंपनियों ने फ्यूल रेट्स किए अपडेट, जानें कीमत में अब क्या आया है बदलाव?


 


Google के ये सभी URL हो जाएंगे बंद, जानें आपके ऊपर क्या पड़ेगा इसका असर?

गूगल (Google) की ओर से अपनी शार्ट यूआरएल करने वाली सर्विस के इस्तेमाल से बनाए गए सभी लिंक्स को बंद करने का निर्णय लिया है. इससे इंटरनटे के लाखों यूजर्स पर सीधा असर पड़ने जा रहा है.

Last Modified:
Monday, 22 July, 2024
BWHindia

गूगल (Google) ने एक बड़ा फैसला लिया है, जिससे लाखों यूजर्स को झटका लगने वाला है. दरअसल, गूगल की ओर से goo.gl यूआरएल को बंद किया जा रहा है. इसका मतलब गूगल की यह यूआरएल शार्ट करने वाली सर्विस के इस्तेमाल से तैयर सभी लिंक्स अब बंद होने जा रहे हैं. गूगल ने इसे लेकर चेतावनी भी जारी कर दी है. तो आइए जानते हैं ये सर्विस कब और क्यों बंद की जा रही है?

बंद हो जाएंगे यूआरएल लिंक, नजर आएगी ये खामी
गूगल ने अपने यूजर्स के लिए चेतावनी जारी करते हुए कहा है कि 25 अगस्त 2025 से goo.gl यूआरएल को बंद कर दिया जाएगा और यूआरएल में यूजर्स को 404 खामी नजर आएंगी. गूगल का यह फैसला पूरे वेब पर लाखों की संख्या में मौजूद शार्ट यूआरएल को बंद कर देगा. इसका सीधा असर उन यूजर्स पर पड़ेगा, जिन्होंने इस यूआरएल की मदद से लिंक शॉर्ट किए होंगे. 25 अगस्त के बाद ये लिंक बंद हो जाएंगें. 


शार्ट लिंक को जल्द अपडेट करने करने का दिया निर्देश 
गूगल के अनुसार यूजर्स को 23 अगस्त 2024 से एक अलर्ट भेजा जाएगा. जब कोई यूजर goo.gl लिंक पर क्लिक करेगा, तो उसे नोटिफिकेशन मिलेगा कि यह फीचर जल्द ही काम करना बंद कर देगा. गूगल पहले इस नोटिफिकेशन को सीमित यूजर के लिए जारी करेगा, लेकिन शटडाउन की डेट नजदीक आने पर गूगल की तरफ से सभी यूजर्स को नोटिफिकेशन भेजा जाएगा. Google डेवलपर्स और वेबसाइट ओनर को इस शार्ट लिंक को जल्द अपडेट करने करने का निर्देश दिया है.

क्यों बंद हो रही सर्विस?
गगूल की goo.gl सर्विस की मदद से लिंक शार्ट करने की सुविधा को बंद करने का ऐलान पहली बार साल 2018 में हुआ था. इसके बाद साल 2019 से लिंक शार्ट करने की सुविधा बंद कर दी गई. वहीं, अब इस तरह से सभी शार्ट लिंक को हमेशा के लिए बंद किया जा रहा है. इस सर्विस को बंद करने का कारण कुछ तकनीकी खामी बताई जा रही है. आपको बता दें, गूगल की तरफ से इस तरह पहली बार किसी सर्विस को बंद नहीं किया गया है. बल्कि इससे पहले Google+, Hangouts, Stadia को बंद किया जा चुका है.

इसे भी पढ़ें-मध्य प्रदेश बनेगा आत्मनिर्भर राज्य! सरकार ने ऐसे हासिल किया 17 हजार करोड़ का निवेश
 


दुनिया की रफ़्तार थामने वाले ‘डिजिटल पैंडेमिक’ से मिली बड़ी सीख, विकल्प तलाशना ज़रूरी

माइक्रोसॉफ्ट के ऑपरेटिंग सिस्टम पर निर्भर दुनिया के अधिकांश सिस्टम कल ठप हो गए. एक सॉफ्टवेयर अपडेट ने पूरी दुनिया की रफ्तार पर ब्रेक लगा दिया.

Last Modified:
Saturday, 20 July, 2024
BWHindia

अमेरिकी एंटी-वायरस कंपनी क्राउडस्ट्राइक के एक सॉफ्टवेयर अपडेट ने कल पूरी दुनिया की रफ़्तार पर ब्रेक लगा दिया. इस अपडेट से अमेरिका से लेकर भारत तक माइक्रोसॉफ्ट के सिस्टम प्रभावित हुए और सबकुछ थम गया.  माइक्रोसॉफ्ट के ऑपरेटिंग सिस्टम पर चलने वाले दुनियाभर के 95% कंप्यूटर 5 घंटों से ज्यादा समय तक ठप रहे. हालांकि, अब स्थिति काफी हद तक सामान्य हो गई है. क्राउडस्ट्राइक के सॉफ्टवेयर अपडेट का सबसे ज्यादा असर एयरपोर्ट, फ्लाइट, बैंक और स्टॉक एक्सचेंज पर पड़ा. दुनियाभर में करीब 4,295 फ्लाइट कैंसिल करनी पड़ीं. उधर, तमाम IT कंपनियों में भी कल कोई कामकाज नहीं हो सका. कर्मचारियों को बिना मांगे ही काम से छुट्टी मिल गई. 

अब सामान्य हो रहे हालात 
कल मिले झटके से अब दुनिया काफी हद तक बाहर निकल आई है. लंदन स्टॉक एक्सचेंज ग्रुप (LSEG) का कहना है कि उसका डेटा और सिस्टम फिर से चालू हो गया है. अमेरिकन एयरलाइंस ने भी फिर से ऑपरेशन शुरू होने की घोषणा की है. भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने बताया कि देश के फाइनेंशियल और पेमेंट सिस्टम पर इसका कोई खास असर देखने को नहीं मिला. केवल 10 बैंक और /NBFC इससे प्रभावित हुए, लेकिन कुछ समय बाद ही इसे ठीक कर लिया गया. एयरपोर्ट पर सॉफ्टवेयर अपडेट से हुई टेक्निकल गड़बड़ी का सबसे ज्यादा असर नजर आया. अकेले अमेरिका में ही 1100 फ्लाइट रद्द करनी पड़ीं और 1700 देरी से उड़ान भर पाईं. मुंबई, दिल्ली, चेन्नई, बेंगलुरु सहित देश के अधिकांश हवाईअड्डों पर भारी भीड़ देखी गई. ऑनलाइन सर्विसेज ठप होने से फ्लाइट बोर्डिंग पास हाथ से लिखकर दिए गए. हालांकि, अब सेवाएं सामान्य हो रही हैं.

सबसे बड़ा आईटी संकट
इस गड़बड़ी का असर पूरी दुनिया पर नजर आया, इसलिए इसे इतिहास का सबसे बड़ा आईटी संकट माना जा रहा है. इसे ‘डिजिटल पैंडेमिक’ भी करार दिया गया है. इस गड़बड़ी के तुरंत बाद माइक्रोसॉफ्ट की तरफ से कहा गया कि यह एक थर्ड पार्टी इश्यू है. इस समस्या का जिम्मेदार क्राउडस्ट्राइक (CrowdStrike) को माना जा रहा है. यह कंपनी साइबर सिक्योरिटी सेवाएं प्रदान करती है. कंपनी द्वारा अपने प्रोडक्ट फाल्कन (CrowdStrike Falcon) में दिए गए अपडेट के चलते ही यह समस्या उत्पन्न हुई थी. मामला बिगड़ने के बाद क्राउडस्ट्राइक की तरफ से कहा गया कि उसने यह अपडेट वापस लेना शुरू कर दिया है.

खतरनाक साबित हुई मोनोपॉली
वहीं, एक्सपर्ट्स का कहना है कि ‘डिजिटल पैंडेमिक’ से हमें विकल्पों पर ध्यान देने की सीख लेनी चाहिए.  दुनिया में 95% कंप्यूटर माइक्रोसॉफ्ट के ऑपरेटिंग सिस्टम पर आधारित हैं. यह मोनोपॉली खतरनाक साबित हुई है, लिहाजा इसका विकल्प ढूंढ़ने की जरूरत है. उनका कहना है कि अब समय आ गया है कि देश में वैकल्पिक ऑपरेटिंग सिस्टम डेवलपमेंट को गंभीरता से लिया जाए. देश के एयरलाइन और अधिकांश दूसरे उद्योग माइक्रोसॉफ्ट का ऑपरेटिंग सिस्टम ही इस्तेमाल करते हैं. कम से कम अत्यावश्यक सेवाओं के लिए एक इसके एक विकल्प तैयार करना बेहद ज़रूरी है, ताकि भविष्य में इस तरह की स्तिति उत्पन्न होने पर सेवाएं बाधित न हों.  


पहले से कम कीमत में OpenAI ने लॉन्च किया नया AI मॉडल, जानिए इसकी खासियत?

आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस (AI) ने अपने यूजर्स को बेहतरीन एक्सपीरियंस देने के लिए GPT-4o mini को लॉन्च किया है. यह कंपनी का किफायती और सस्टेनेबल एआई मॉडल है.

Last Modified:
Friday, 19 July, 2024
BWHindia

बीते कुछ सालों में आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस (AI) काफी तेजी से आगे बढ़ रहा है. इसने टेक्नोलॉजी के क्षेत्र में अपना दबदबा भी बना लिया है. वहीं, इसमें सबसे बड़ा योगदान OpenAI का है, जिसने चैटजीपीटी (ChatGPT) के साथ एआई को एक नई दिशा दी है. इसी कड़ी में अब ओपनएआई ने GPT-4o मिनी लॉन्च किया है, जो एक किफायती और पावर एफिशिएंट छोटा एआई मॉडल है. तो आइए जानते हैं इस एआई मॉडल में क्या खास  है? 

क्या है इस छोटे एआई मॉडल का उद्देश्य
इस एआई मॉडल का उद्देश्य अपनी तकनीक को अधिक किफायती और कम ऊर्जा-गहन बनाना है. इससे नए और स्टार्टअप कस्टमर्स को एआई के लिए सस्ता विकल्प मिल सकेगा. 
इस बढ़ते प्रतिस्पर्धी एआई बाजार में ओपनएआई रणनीतिक रूप से अपनी तकनीक को डेवलपर्स के लिए अधिक सुलभ बना रहा है. एप्लिकेशन के क्रिएशन के लिए लागत और विकास समय को कम करने को प्राथमिकता दे रहा है. इससे मेटा और गूगल जैसे बड़े दिग्गज से बराबरी करने में आसानी होगी और कंपनी यूजर को बेहतर एक्सपीरियंस दे पाएगी. 

GPT-4o Mini की खासियत 
1. GPT-4o मिनी की कीमत पुराने मॉडल यानी GPT-3.5 टर्बो के एक अंश से कम है.
2. यह 60 प्रतिशत से अधिक की लागत में कमी लाता है, इसमें 15 सेंट प्रति मिलियन इनपुट टोकन और 60 सेंट प्रति मिलियन आउटपुट टोकन की लागत है. 
3. कम लागत के बावजूद, GPT-4o मिनी यूजर चैट प्रेफरेंस को समझने के मामले में GPT-4 से आगे है.
4. इसने मैसिव मल्टीटास्क लैंग्वेज अंडरस्टैंडिंग (MMLU) बेंचमार्क पर 82 प्रतिशत का प्रभावशाली स्कोर हासिल किया है.
5. GPT-4o मिनी इस बेंचमार्क पर Google के जेमिनी फ्लैश (77.9 प्रतिशत) और एंथ्रोपिक के क्लाउड हाइकू (73.8 प्रतिशत) जैसे प्रतिस्पर्धियों से बेहतर प्रदर्शन करता है.

कम ऊर्जा खपत और बेहतर समाधान 
GPT-4o मिनी जैसे स्मॉल लैंग्वेज मॉडल को ऑपरेट करने के लिए कम कम्प्यूटेशनल पावर की जरूरत होती है. इसका मतलब है कम ऊर्जा खपत और बेहतर समाधान के साथ यह कंपनियों के लिए एक खास विकल्प है, जो अपने वर्कफ़्लो में जनरेटिव AI को इंटीग्रेट कर सकता है. यूजर्स अब ChatGPT के फ्री, प्लस और टीम प्लान के यूजर्स GPT-3.5 टर्बो की जगह GPT-4o मिनी का एक्सेस पा सकते हैं. यह अपग्रेड यूजर को बेहतर क्षमताओं के साथ लेटेस्ट तकनीक पर काम करने का मौका देता है. वहीं, एंटरप्राइज यूजर्स अगले सप्ताह से GPT-4o मिनी का एक्सेस हासिल कर सकते हैं. 

इसे भी पढ़ें-इस कंपनी ने दिया यूजर्स को झटका, अब नहीं मिलेगा Unlimited Data


 


WhatsApp पर ई-चालान भेजकर साइबर ठगी कर रहे हैकर्स, भारतीयों को बना रहे निशाना

वियतनाम के स्कैमर्स WhatsApp पर नकली ई-चालान भेजकर भारतीय यूजर्स को निशाना बना रहे हैं. ये हैकर्स अब तक 16 लाख रुपये से ज्यादा की ठगी कर चुके हैं. 

Last Modified:
Thursday, 18 July, 2024
BWHindia

एक ओर दुनिया डिजिटलीकरण और टेक्नोलॉजी की ओर बढ़ रही है. अब पेमेंट से लेकर चालान तक सीधा ऑनलाइन भेजे जाते हैं. दूसरी ओर साइबर ठग इस टेक्नोलॉजी का गलत इस्तेमाल करके लोगों का बैंक अकाउंट खाली कर रहे हैं. हाल में एक ऐसी रिपोर्ट सामने आई है जिसमें पता चला है कि हैकर्स व्हाट्सऐप पर फर्जी ई-चालान का लिंक भेजकर लोगों के बैंक अकाउंट को खाली कर रहे हैं. तो आइए जानते हैं ये साइबर ठग कैसे लोगों को अपना शिकार बनाते हैं और इनसे आप कैसे बच सकते हैं?

व्हाट्सऐप पर भेज रहे ई-चालान
एक रिपोर्ट के अनुसार वियतनाम हैकर समूह के स्कैमर्स WhatsApp पर नकली ई-चालान भेजकर भारतीय उपयोगकर्ताओं को निशाना बना रहे हैं. रिपोर्ट के मुताबिक स्कैमर्स मैसेज के जरिए लोगों को एक फर्जी ऐप डाउनलोड करने को उकसाते हैं, ऐसा करते ही ठग लोगों के व्यक्तिगत डेटा चुरा लेते हैं. जिसके जरिए वे उनके बैंक खाते से पैसे निकाल लेते हैं.

ऐसे बनाते हैं लोगों को शिकार
स्कैमर्स खुद को परिवहन सेवा या कर्नाटक पुलिस विभाग का दिखाते हैं और उन्हीं के हवाले से फर्जी मैसेज भेजते हैं. वे ई-चालान भेजकर ट्रैफ़िक उल्लंघन के लिए जुर्माना भरने की सूचना देते हैं. जब यूजर्स दिए गए लिंक पर क्लिक करते हैं, तो यह एक APK (एंड्रॉइड एप्लिकेशन पैकेज) डाउनलोड करने को कहता है. एक बार ऐप इंस्टॉल होने के बाद यह आपके कॉन्टैक्स, फ़ोन कॉल, एसएमएस और यहां तक कि डिफ़ॉल्ट मैसेजिंग ऐप बनने जैसे कई परमिशन ले लेता है. यह मैलवेयर वन-टाइम पासवर्ड (OTP) और अन्य संवेदनशील संदेशों को इंटरसेप्ट करता है, जिससे हैकर्स पीड़ितों के ई-कॉमर्स अकाउंट तक पहुंच सकते हैं फिर वे गिफ्ट कार्ड खरीदते हैं और उन्हें भुनाते हैं, जिससे डायरेक्ट फंड ट्रांसफर का कोई सबूत नहीं रहता है. 

इस राज्य के लोग बने सबसे ज्यादा शिकार
इस घोटाले ने पूरे भारत में उपयोगकर्ताओं को प्रभावित किया है. एक रिपोर्ट के अनुसार स्कैमर्स के निशाने पर गुजरात के लोग सबसे ज्यादा पाए गए. उसके बाद कर्नाटक का स्थान है. ठगों की पहचान वियतनाम के बाक गियांग प्रांत से की गई है. वे खुद की पहचान छुपाने के लिए प्रॉक्सी IP का इस्तेमाल करते थे. ये स्कैमर्स व्रोम्बा ग्रुप के एक मैलवेयर से इस ठगी को अंजाम दे रहे हैं. वहीं, अब तक ये ठग 16 लाख रुपये से ज्यादा की धोखाधड़ी कर चुके हैं.

इसे भी पढ़ें-फिनटेक स्टार्टअप OmniCard ने इंस्टीट्यूशनल इन्वेस्टर्स से जुटाए 3 मिलियन डॉलर

खुद को ऐसे रखें सुरक्षित
1. ऐसे घोटालों का शिकार होने से बचने के लिए एंटीवायरस सॉफ्टवेयर का उपयोग करें. 
2. आप किन ऐप्स को अपने मोबाइल में परमिशन दे रहे हैं ये नियमित रूप से चेक करें. 
3. महज Google Play Store या ऐप स्टोर जैसे आधिकारिक सोर्स से ही ऐप डाउनलोड करें. 
4. अपने डिवाइस के ऑपरेटिंग सिस्टम और ऐप को अप-टू-डेट रखें. 
5. संदिग्ध एसएमएस गतिविधि का पता लगाने और आपको अलर्ट करने के लिए आधुनिक टूल्स का इस्तेमाल करें. 
6. बैंकिंग और अन्य संवेदनशील सेवाओं के लिए अलर्ट सेट करें.


 


अब Reel बनेगी और ज्यादा क्रिएटिव, Instagram पर आया ये नया फीचर

इंस्टाग्राम चलाने वालों के लिए खुशखबरी है. इंस्टाग्राम रील बनाने के लिए आपको इस फीचर का फायदा मिलेगा. अब आप एक, वो

Last Modified:
Thursday, 18 July, 2024
BWHindia

इंस्टाग्राम (Instagram Reel) सोशल मीडिया ऐप्स में सबसे ज्यादा पॉप्युलर है. अगर आप इंस्टाग्राम पर रील (Reel) बनाते हैं, तो आपके लिए अच्छी खबर है. दरअसल, अब इंस्टाग्राम की पैरेंट कंपनी मेटा (Meta) ने सिंगल रील में कई ऑडियो ट्रैक जोड़ने का ऑप्शन दिया जा रहा है. इसका मतलब अब आपकों रील बनाने में और ज्यादा मजा आने वाला है. तो आइए जानते हैं आप इस फीचर का फायदा कैसे ले सकते हैं?

मिलेगा 20 ऑडियो ट्रैक जोड़ने का मजा
इंस्टाग्राम चलाने वालों के लिए खुशखबरी है. इंस्टाग्राम रील बनाने के लिए आपको इस फीचर का फायदा मिलेगा. अब आप एक सिंगल रील में 20 ऑडियो ट्रैक जोड़ पाएंगे. इंस्टाग्राम रील्स ऐप के सबसे पॉपुलर फीचर में से एक है. 20 ऑडियो ट्रैक जोड़ने का ऑप्शन यूजर्स को काफी सहूलियत देगा और वे ज्यादा क्रिएटिविटी के साथ रील बना पाएंगे.

रीच बढ़ाने मेंभी मिलेगी मदद
मल्टी-ऑडियो ट्रैक ऑप्शन के साथ इंस्टाग्राम रील बनाना और मजेदार होगा. साथ ही आपको रील की रीच बढ़ाने में भी मदद मिल सकती है. यूजर्स की डिमांड को ध्यान में रखते हुए कंपनी ने रील के लिए ज्यादा ऑडियो ट्रैक फीचर ऑप्शन जारी किया है. कई लोग ऐसे हैं जो पहले से मौजूद गाने या ऑडियो के साथ अपनी ऑडियो जोड़ना चाहते हैं, ऐसे लोगों को नए फीचर का फायदा मिलेगा.

टेक्स्ट, स्टिकर और क्लिप्स एड करने की भी सुविधा

इंस्टाग्राम रील मेटा के लिए बेहद जरूरी फीचर है, इसलिए मेटा भी इसे और बेहतर बनाने की पूरी कोशिश करती है. नया फीचर रील को और ज्यादा क्रिएटिव और इंटरेक्टिव बनाने के लिए है. इसे लेकर इंस्टाग्राम हेड Adam Mosseri ने भी इंस्टाग्राम पर जानकारी शेयर की है. उन्होंने बताया कि आप सिंगल रील पर 20 तक ऑडियो ट्रैक एड कर सकते हैं. टेक्स्ट, स्टिकर और क्लिप्स जोड़ने के साथ आप खुद का ऑडियो मिक्स भी तैयार कर सकते हैं. इसे फैंस सेव कर सकते हैं और दोबारा यूज कर सकते हैं.

ऐसे करें फीचर का इस्तेमाल
इंस्टाग्राम यूजर्स Edit सेक्शन में जाकर नए फीचर का इस्तेमाल कर सकते हैं. एडिट टाइमलाइन के साथ रील एडिट करते हुए आप अलग-अलग एलिमेंट्स के साथ इस फीचर का इस्तेमाल कर सकते हैं. अगर आपको यह फीचर शो नहीं हो रहा है, तो गूगल प्ले स्टोर या एप्पल ऐप स्टोर पर जाकर इंस्टाग्राम ऐप को अपडेट करें.

इसे भी पढ़ें-Credit Card बिल पेमेंट के लिए 15 बैंकों ने एक्टिव किया BBP सिस्टम, ये रही बैंकों की लिस्ट


WhatsApp पर आया नया फीचर! अब मिस नहीं होंगे पसंदीदा और जरूरी लोगों के कॉल, चैट्स

WhatsApp पर कॉलिंग और मैसेजिंग एक्सपीरियंस को बेहतर बनाने के लिए एक नया फीचर आया है. ये फीचर आपके पसंदीदा और जरूरी कॉल, मैसेज को मिस नहीं होने देगा. 

Last Modified:
Wednesday, 17 July, 2024
BWHindia

व्हाट्सऐप (WhatsApp) लगातार अपने यूजर्स के लिए नए-नए फीचर्स रोलआउट कर रहा है. इससे यूजर्स के लिए व्हाट्सऐप को इस्तेमाल करने का एक्सपीरियंस भी बेहतर हो रहा है. इसी कड़ी में अब व्हाट्सऐप पर फेवरेट कॉन्टैक्ट्स की लिस्ट तैयार करने के लिए एक नया फीचर रोल आउट किया गया है. अगर आपको ये फीचर नहीं मिला है, तो आपको व्हाट्सऐप अपडेट करना होगा. वही, इसके बाद भी फीचर नहीं मिलता, तो आपको थोड़ा इंतजार करना होगा, क्योंकि व्हाट्सऐप की ओर से चरणबद्ध तरीके से इस फीचर को रोलआउट किया जा रहा है. तो आइए जानते हैं इस फीचर में क्या खास है?

रोलआउट हुआ Add To Favorites फीचर
अब आप व्हाट्सऐप (WhatsApp) पर अपने पसंदीदा लोगों की लिस्ट तैयार कर पाएंगे. दरअसल व्हाट्सऐप की ओर से फेवरेट्स फिल्टर (favorites filter) को व्हाट्सऐप यूजर के लिए रोलआउट कर दिया है. इस फीचर को 16 जुलाई 2024 को रोलआउट कर दिया गया है, जिसे जल्द ही सभी देशों में रोलआउट कर दिया जाएगा. 

पसंदीदा चैट और कॉल्स को कर पाएंगे सर्च
इस फीचर की मदद से आपके दोस्त, रिश्तेदारों और ऑफिशियल लोगों के मैसेज और चैट मिस नहीं होंगे. आ अपने पसंदीदा लोगों की चैट और कॉल्स को आसानी से सर्च कर पाएंगे. इस फीचर की मदद से आप अपने पसंदीदा लोगों की चैट्स और कॉल्स को टॉप चैट विंडो में पिन कर पाएंगे. यह फोन के स्पीड डॉयल जैसा फीचर है.

ऐसे करें फीचर का इस्तेमाल
1. सबसे पहले आपको अपना व्हाट्सऐप अपडेट करना होगा.
2. इसके बाद व्हाट्सऐप Settings ऑप्शन में जाना होगा.
3. फिर आपको Favorits ऑप्शन दिखेगा, जिस पर टैप करना होगा.
4. इसके बाद आपको Add to favorites पर क्लिक करना होगा.
5. यूजर्स चाहें, तो अपनी फेवरेट लिस्ट को किसी भी समय रिआर्डर कर सकते हैं.

इसे भी पढ़ें-itel लाया रंग बदलने वाला 5G फोन, कीमत भी कम, डिस्प्ले टूटी, तो फ्री में होगी रिप्लेस

कॉल, मैसेज आने पर मिलेगा नोटिफिकेशन 
व्हाट्सऐप के फेवरेट चैट और कॉल फिल्टर की मदद से आप अपने दोस्तों और फैमिली मेंबर या फिर जरूरी कॉन्टैक्ट्स की चैट और कॉल लिस्ट बना पाएंगे. ऐसे में जब कॉल और मैसेज आएगा, तो उसका नोटिफिकेशन सबसे पहले मिलेगा.


 


itel लाया रंग बदलने वाला 5G फोन, कीमत भी कम, डिस्प्ले टूटी, तो फ्री में होगी रिप्लेस

itel का नया स्मार्टफोन itel Color Pro 5G भारत में लॉन्च हो गया है. कंपनी का दावा है कि itel के इस अपकमिंग स्मार्टफोन को कटिंग एज टेक्नोलॉजी के साथ पेश किया गया है.

Last Modified:
Wednesday, 17 July, 2024
BWHindia

अगर आप कम कीमत में स्टाइलिश दिखने वाले 5G स्मार्टफोन की तलाश कर रहे हैं, तो ये खबर आपके लिए ही है. दरअसल, आइटेल (itel) ने भारत में अपने itel Color Pro 5G स्मार्टफोन को लॉन्च कर दिया है. ये फोन दिखने में काफी स्टाइलिश है और ये कलर चेंजिंग बैक पैनल के साथ आता है. इस स्मार्टफोन के साथ कंपनी ग्राहकों को काफी अच्छे ऑफर भी दे रही हैं. तो आइए जानते हैं इस स्मार्टफोन की कीमत क्या है और आपको इसमें क्या फीचर्स मिल रहे हैं?

itel Color Pro 5G में क्या है खास?
यह एक नेक्स्ट जनरेशन IVCO (आईटेल विविड कलर) टेक्नोलॉजी वाला स्मार्टफोन है. यह इनोवेटिव फीचर धूम में स्मार्टफोन के बैक पैनल का कलर बदल देता है, जिससे स्मार्टफोन दिखने में काफी खूबसूरत नजर आता है. बता दें, कलर चेजिंग टेक्नोलॉजी स्मार्टफोन की औसतन कीमत 25 से 30 हजार रुपये होती है. वहीं itel ने इस फोन को काफी कम कीमत में पेश किया है. 

इस कीमत पर मिलेगा फोन
itel Color Pro 5G स्मार्टफोन को केवल 6GB रैम और 12GB स्टोरेज वाले एकमात्र वैरिएंट में लॉन्च किया गया है, जिसकी कीमत 9,999 रुपये है. ये कीमत इसे सबसे सस्ते 5G स्मार्टफोन की कैटेगरी में शामिल कर देती है.

फोन के साथ मिलेंगे ये बैनेफिट
फोन खरीदने वाले ग्राहकों को कंपनी कुछ बेनेफिट्स भी दे रही है, जिसमें फ्री स्क्रीन रिप्लेसमेंट (कीमत 2,000 रुपये) और फ्री डफल बैग (कीमत 3,000 रुपये) शामिल है. कंपनी का कहना है कि फोन खरीदने के 100 दिनों के अंदर अगर डिस्प्ले टूटता है, तो फ्री में रिप्लेस किया जाएगा. फोन को दो कलर ऑप्शन - लैवेंडर फैंटेसी और रिवर ब्लू शेड्स में लॉन्च किया गया है. 

इसे भी पढ़ें-मोबाइल और इंटरनेट सब बंद, वित्त मंत्रालय में शुरू हुआ गुप्तावास, जानिए क्यों?

itel Color Pro 5G के फीचर्स 
1. इस स्मार्टफोन में 6.6 इंच का एचडी प्लस आईपीएस डिस्प्ले है, जिसमें 1600x720 पिक्सेल रिजॉल्यूशन और 90 हर्ट्ज का रिफ्रेश रेट मिलता है. 
2. फोन मीडियाटेक डाइमेंसिटी 6080 प्रोसेसर से लैस है. कंपनी का दावा है कि इस फोन का AnTuTu स्कोर 4,29,595 है. 
3. फोन में स्टैंडर्ड 6GB रैम मिलती है, लेकिन इसमें 6GB वर्चुअल रैम का सपोर्ट भी मिलता है, जिससे कुल रैम 12GB हो जाती है. फोन में 128GB स्टोरेज भी मिलता है.

4. फोटोग्राफी के लिए फोन में 50 मेगापिक्सेल AI डुअल रियर कैमरा सेटअप है. सेल्फी और वीडियो कॉलिंग के लिए फोन में 8 मेगापिक्सेल का फ्रंट-फेसिंग सेंसर है.

5. फोन में 18W फास्ट चार्जिंग के साथ 5000mAh की बैटरी है. सेफ्टी के लिए, फोन में साइड-माउंटेड फिंगरप्रिंट सेंसर और फेस आईडी भी है. फोन में 5G, डुअल-बैंड वाई-फाई, ब्लूटूथ, जीपीएस और चार्जिंग के लिए यूएसबी टाइप-सी पोर्ट जैसे फीचर्स भी शामिल हैं. कंपनी का कहना है कि फोन 10 5G बैंड्स को सपोर्ट करता है.

कमजोर सिग्नल वाले क्षेत्रों में भी मिलेगी मजबूत 5G कनेक्टिविटी 
इस स्मार्टफोन में एनआरसीए (5G++) तकनीक का सपोर्ट भी मिलता है, जो कमजोर सिग्नल वाले क्षेत्रों में भी मजबूत 5G कनेक्टिविटी सुनिश्चित करती है. अन्य सिस्टम के विपरित जो नेटवर्क कमजोर होने पर 4G पर स्विच हो जाते हैं, NRCA एक मजबूत 5G कनेक्शन बनाए रखता है, जिससे तेज ब्राउजिंग और मजबूत कनेक्टिविटी संभव होती है.


 


आपके Aadhaar पर इश्यू हैं ज्यादा सिम, तो 2 लाख जुर्माने के साथ हो सकती है जेल की सजा

टेलिकम्यूनिकेशंस एक्ट (Telecommunications Act) 2023 के तहत निश्चित संख्या से ज्यादा सिम कार्ड रखने पर आपको जेल तक जाना पड़ सकता है. 

Last Modified:
Tuesday, 16 July, 2024
BWHindia

क्या आपको याद है आपने खुद के आधार कार्ड (Aadhaar Card ) पर कितने सिम कार्ड इश्यू करा रखे हैं? अगर नहीं तो फिर इस पर ध्यान जरूर दीजिए, नहीं तो आपको जुर्माना भरने के साथ जेल तक जाना पड़ सकता है. दरअसल, केंद्र सरकार ने फ्रॉड एक्टिविटी पर रोक लगाने के लिए टेलिकॉम्यूनिकेशंस एक्ट (Telecommunications Act) 2023 लागू किया है, जिसके तहत सिम कार्ड को एक सीमित संख्या में रखा जा सकता है. ऐसा नहीं करने पर आपको जेल तक जाना पड़ सकता है. साथ ही जुर्माना भी देना पड़ सकता है. तो आइए जानते हैं ज्यादा सिम कार्ड रखने पर कितना जुर्माना और कितने साल की सजा हो सकती है?

इतने सिम कार्ड रखने की लिमिट
नए नियम के अनुसार आप अपने आधार कार्ड पर अधिकतम 9 सिम कार्ड ले सकते हैं. वहीं, संवेदनशील राज्य जैसे जम्मू कश्मीर, असम में सिम रखने की लिमिट को घटाकर 6 कर दिया गया है. इन राज्यों में 6 ज्यादा सिम इश्यू कराने पर जुर्माना और सजा का प्रावधान है. यह कदम सुरक्षा के मद्देनजर उठाया गया है.

जुर्माने के साथ होगी जेल
अगर आपके पास सीमित संख्या से ज्यादा सिम हैं, तो आपको कानूनी कार्रवाई के साथ वित्तीय नुकसान का सामना भी करना पड़ सकता है. अगर कोई पहली बार नियमों को तोड़ता है, तो उसे 50 हजार रुपये तक जुर्माना देना होगा. वहीं, इस नियम को बार-बार तोड़ने पर 2 लाख रुपये तक का जुर्माना देना पड़ सकता है. हालांकि, कानून में ज्यादा सिम रखने पर जेल की सजा का प्रावधान नहीं है. लेकिन अगर आपके नाम पर इश्यू सिम कार्ड से वित्तीय या क्रिमिनल एक्टिविटी होती है, तो आपको 3 साल की जेल हो सकती है. साथ ही 50 लाख रुपये का जुर्माना और जेल दोनों सजा का सामना करना पड़ सकता है.

आपके नाम पर जारी सिम कार्ड का ऐपे पता लगाएं 
आपके आधार कार्ड पर जारी किए जाने वाले सिम कार्ड का पता लगाया जा सकता है. साथ ही अगर आपके नाम पर जारी सिम कार्ड से अवैध गतिविधि होती है, तो उसे ट्रैक करके बंद कराया जा सकता है. डिपार्टमेंट ऑफ टेलिकम्यूनिकेशन (DoT) की ओर से एक पोर्टल बनाया गया है, जिससे आपके आधार पर जारी फर्जी सिम कार्ड का पता लगाया जा सकता है.

1. दूरसंचार विभाग के संचार साथी (https://sancharsaathi.gov.in) पोर्टल पर टेलीग्राम एनालिटिक्स फॉर फ्रॉड मैनेजमेंट एंड कंज्यूमर प्रोटेक्शन (TAFCOP) फीचर पर जाएं. 
2. यहां आपको अपना रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर दर्ज करना होगा. इसके बाद आपको पेज पर कैप्चा कोड दर्ज करना होगा. 
3. इसके बाद आपके रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर ओटीपी आएगा. इसे फिल करके आप आसानी से पोर्टल पर लॉगिन कर सकेंगे. 
4. लॉगिन करने के बाद स्क्रीन पर एक लिस्ट खुलकर सामने आ जाएगी. यहां से आप आसानी से पता कर सकते हैं आपकी आईडी पर कौन-कौन से मोबाइल नंबर एक्टिवेट हैं. 

इसे भी पढ़ें-महाराष्ट्र की सड़कों पर दौड़ेंगी इस कंपनी की बसें, सरकार से मिला 982 करोड़ का कॉन्ट्रैक्ट
 


इस दिन भारत में एंट्री लेगा Realme 13 Pro 5G, AI कैमरा सहित मिलेंगे कई शानदार फीचर्स

रियमली (Realme) कंपनी ने अपने प्रीमियम स्मार्टफोन रियलमी 13 प्रो 5जी (Realme 13 Pro 5G) और रियलमी 13 प्रो+ 5जी (Realme 13 Pro+ 5G)  की लॉन्च डेट कंफर्म कर दी है.

Last Modified:
Tuesday, 16 July, 2024
BWHindia

रियमली (Realme) कंपनी ने अपने प्रीमियम स्मार्टफोन रियलमी 13 प्रो 5जी (Realme 13 Pro 5G) और रियलमी 13 प्रो+ 5जी (Realme 13 Pro+ 5G)  की लॉन्च डेट घोषित कर दी है. गौरतलब है कि शॉपिंग साइट फ्लिपकार्ट पर भी रियलमी 13 सीरीज का  प्रोडक्ट पेज लाइव कर दिया गया है. वहीं, अब रियलमी ने अपने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म एक्स (X) पर दोनों स्मार्टफोन की लॉन्च डेट की जानकारी दी है. तो आइए जानते हैं इस फोन में आपको क्या फीचर्स मिलेंगे और इसकी कीमत कितनी होगी?

30 जुलाई को लॉन्च होंगे फोन, ये होगी कीमत
कंपनी ने अपने ऑफिशियल एक्स हैंडल पर अपने नए स्मार्टफोन को लॉन्च करने की तारीख कंफर्म की है. इस स्मार्टफोन की सीरीज का लॉन्चिंग इवेंट कंपनी के सोशल मीडिया हैंडल्स पर 30 जुलाई 2024 को दोपहर 12 बजे आयोजित होगा. मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार इस फोन को मिडरेंज प्राइज सेगमेंट में लॉन्च किया जाएगा. इसकी शुरुआती कीमत 20 से 25 हजार रुपये के बीच हो सकती है.

AI फोटो सिस्टम HYPERIMAGE+ फीचर
Realme 13 Pro 5G और Realme 13 Pro+ 5G की सबसे बड़ी खासियत इसका कैमरा है. ये Realme का पहला AI फोटो सिस्टम HYPERIMAGE+ फीचर वाला स्मार्टफोन है.  इसके अलावा इस स्मार्टफोन में 50MP Sony LYT 701 प्राइमरी कैमरा OIS सपोर्ट के साथ आएगा. इसमें 50MP Sony LYT 600 पेरिस्कोप टेलीफोटो सेंसर और 3X ऑप्टिकल जूम होगा. 

कैमरा में मिलेंगे ये AI फीचर्स
स्मार्टफोन में एआई अल्ट्रा क्लीयैरिटी (AI Ultra Clarity), एआई स्मार्ट रिमूवल (AI Smart Removal), एआई ग्रुप फोटो एनहैंसमेंट (AI Group Photo Enhancement), एआई ऑडियो जूम (AI Audio Zoom) जैसे फीचर्स मिलेंगे. 

4 स्टोरेज वैरिएंट में आएगा स्मार्टफोन
लीक्स के अनुसार स्मार्टफोन में क्वालकॉम स्नैपड्रैगन 7s जेन 3 चिपसेट होगा. ये स्मार्टफोन 4 स्टोरेज वैरिएंट 8GB RAM/128GB स्टोरेज, 8GB RAM/256GB स्टोरेज, 12GB RAM/256GB स्टोरेज, 12GB RAM/512GB स्टोरेज के साथ आएंगे.  

इसे भी पढ़ें-बिना इंटरनेट के भी कर सकते हैं UPI पेमेंट, जानें ऑफलाइन पेमेंट करने का तरीका?