Reddit के बड़े फैसले का जमकर हो रहा विरोध, जानिए क्या है पूरा मामला!

कम्युनिटीज को चलाने वाले लोगों ने Subreddits पर विरोध के बारे में पोस्ट्स डालकर बताया कि वह 12 से 14 जून तक Reddit का विरोध करेंगे.

Last Modified:
Friday, 09 June, 2023
reddit

Reddit एक अमेरिकी समाजिक न्यूज प्लेटफार्म है और इस प्लेटफॉर्म पर विभिन्न कम्युनिटीज मौजूद हैं जिन्हें “Subreddits” कहा जाता है. हाल ही में बहुत सी Subreddit कम्युनिटीज ने घोषणा की है कि वह 12 से 14 जून तक डार्क होने जा रही हैं. आइये जानते हैं आखिर ऐसा क्यों है?

किस बात का है विरोध?
तस्वीरों और फोटोग्राफी की एक कम्युनिटी है जिसका नाम r/pics है और इसके फॉलोअर्स की संख्या 30 मिलियन से अधिक है. r/pics ने अपने पेज पर पिन की गई एक पोस्ट में लिखा है कि “12 जून को Reddit द्वारा API में किए गए बदलावों का विरोध करते हुए r/pics डार्क होने जा रहा है. माना जा रहा है कि Reddit द्वारा API में किए गए इन बदलावों की बदौलत थर्ड पार्टी ऐप्स को काफी नुकसान हो सकता है. API में होने वाले नए बदलावों का विरोध करने वाली r/pics इकलौती Subreddit कम्युनिटी नहीं है. r/videos (26.7 मिलियन फॉलोअर्स), r/lifeprotips (22.1 मिलियन फॉलोअर्स), और r/earthporn (23.3 मिलियन फॉलोअर्स) जैसी कम्युनिटीज भी API के इन बदलावों का विरोध कर रही हैं.

आखिर क्या है पूरा मामला?
दरअसल दो महीनों पहले “Apollo” नाम के iOS पर मौजूद मशहूर Reddit क्लाइंट Christian Selig ने घोषणा करके बताया कि अपनी API सुविधा को इस्तेमाल करने के बदले में Reddit द्वारा क्लाइंट ऐप्स से शुल्क लिया जाएगा. अब सवाल उठता है कि API क्या होता है? API यानी एप्लीकेशन प्रोग्रामिंग इंटरफेस एक सोफ्टवेयर होता है जो दो अलग-अलग एप्स को आपस में जोड़ता है. इस मामले में यह एक सोफ्टवेयर है जो थर्ड पार्टी ऐप्स को Reddit के सर्वर के साथ इन्फॉर्मेशन और फाइल्स भेजने और प्राप्त करने की अनुमति देता है. यहां ध्यान देने वाली बात ये है कि API में होने वाले ये बदलाव थर्ड पार्टी ऐप्स को प्रभावित करेंगे हालांकि इन बदलावों से Reddit के ऐप पर कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा. 

देने होंगे इतने पैसे
अपनी पोस्ट में Christian Selig ने विशेष रूप से कहा है कि इस नए API को इस्तेमाल करने का शुल्क अभी तय नहीं किया गया है लेकिन 2 हफ्तों से 1 महीने के बीच इसे तय कर लिया जाएगा. हाल ही में 1 जून को Christian ने खबर दी कि Apollo को काम करने के लिए Reddit को सालाना लगभग 20 मिलियन डॉलर्स का भुगतान करना होगा. अपनी नई पोस्ट में उन्होंने कहा कि 50 मिलियन रिक्वेस्ट के लिए 12,000 डॉलर्स का भुगतान करना होगा. साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि Apollo ने पिछले महीने यानी मई में 7 बिलियन रिक्वेस्ट की थी जिसके हिसाब से हर महीने Apollo को 1.7 मिलियन डॉलर्स या फिर सालाना तौर पर 20 मिलियन डॉलर्स का भुगतान करना होगा. 

कुछ ऐसे होगा विरोध-प्रदर्शन
Apollo के डेवलपर द्वारा की गयी इस पोस्ट पर 1 लाख 60,000 से ज्यादा Upvotes किए जा चुके हैं. साथ ही Relay, Reddit Is Fun, Sync, Boost जैसे बहुत से अन्य नए Reddit क्लाइंट्स के डेवलपर्स ने भी ऐसी ही पोस्ट्स करके उनके द्वारा किए जाने वाले भुगतान की जानकारी दी है. इस खबर के सामने आने के बाद बहुत सी कम्युनिटीज को चलाने वाले लोगों ने अपने Subreddits पर विरोध प्रदर्शन के बारे में पोस्ट्स डालनी शुरू कर दी और बताया कि वह 12 से 14 जून तक Reddit द्वारा किए जा रहे इस बदलाव का विरोध करेंगे और इसका मतलब यह है कि लोग न तो किसी पुरानी पोस्ट्स के साथ इंटरैक्ट कर पाएंगे और न ही नई पोस्ट डाल पाएंगे. 
 

यह भी पढ़ें:  Go First की मुसीबत से इस कारोबारी के आए 'अच्छे दिन', इतनी बढ़ गई दौलत

 


नए AI फीचर्स के साथ आया Samsung Galaxy Z Fold 6, जानें कब और कितनी कीमत पर मिलेगा ये स्मार्टफोन

सैमसंग (Samsung) का अपकमिंग Samsung Galaxy Z Fold 6 5G Galaxy Z Fold 6 अगले महीने लॉन्च हो सकता है. इसमें एआई फीचर्स भी मिलेंगे, जिससे यूजर्स को एक नया एक्सपीरियंस मिलेगा.

Last Modified:
Saturday, 15 June, 2024
BWHindia

अगर आप एआई फीचर्स वाला कोई स्मार्टफोन खरीदने की प्लानिंग कर रहे हैं, तो थोड़ा इंतजार कर लीजिए. दरअसल, सैमसंग (Samsung) अगले महीने गैलेक्सी अनपैक्ड 2024 इवेंट में Samsung Galaxy Z Fold 6 5G को लॉन्च कर सकती है. लॉन्च से पहले इस फोन्स के कई लीक्स सामने आ चुके हैं, जिससे इनकी कीमत और डिजाइन के बारे में कई चीजों का खुलासा हो गया है. लीक्स से मिली जानकारी के अनुसार Galaxy Z Fold 6 कस्टम स्नैपड्रैगन 8 जेन 3 मोबाइल प्लेटफॉर्म पर चलेगा और इसमें 4400mAh की बैटरी होगी. आइए हम आपको इस अपकमिंग स्मार्टफोन के फीचर्स और कीमत की पूरी जानकारी देते हैं.
  
गैलेक्सी जेड फोल्ड 6 का सपोर्ट पेज भी हुआ लाइव
सैमसंग इंडिया की वेबसाइट पर सैमसंग गैलेक्सी जेड फोल्ड 6 का सपोर्ट पेज भी लाइव हो गया है. सपोर्ट पेज कंफर्म करता है कि सैमसंग जल्द ही भारत में SM-F956B/DS मॉडल नंबर के साथ एक नया स्मार्टफोन लॉन्च कर सकता है. मॉडल नंबर में D/S आने वाले सैमसंग स्मार्टफोन में डुअल सिम कार्ड स्लॉट होने का हिंट देता है. SM-F956B/DS मॉडल नंबर को पहले कई सर्टिफिकेशन में देखा जा 8 चुका है.

ये मिलेंगे फीचर
मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार Z Fold 6 में 7.6 इंच का डायनामिक एमोलेड 2X QXGA+ 120 हर्ट्ज मेन और 6.3 इंच का डायनामिक एमोलेड 2X 120 हर्ट्ज एचडी प्लस कवर डिस्प्ले हो सकता है. दोनों में ही एस पेन का सपोर्ट मिल सकता है. फोन ऑक्टा-कोर स्नैपड्रैगन 8 जेन 3 के साथ आ सकता है और 12GB LPDDR5X रैम और 1TB तक की इंटरनल स्टोरेज को स्पोर्ट कर सकता है. इसमें 4400mAh की बैटरी हो सकती है. सॉफ्टवेयर में नए गैलेक्सी AI फीचर्स मिलने की उम्मीद है. बता दें कि पुराने मॉडल यानी Galaxy Z Fold 5 में 6.2 इंच की कवर स्क्रीन थी. ये फोन तीन कलर ऑप्शन नेवी, पिंक और सिल्वर शैडो में मिल सकता है.

इसे भी पढ़ें-Bajaj ने लॉन्च की 4 नई पल्सर, जानें क्या होगी इनकी कीमत?

फोटोग्राफी और वीडियो 
फोटोग्राफी के लिए इस स्मार्टफोन में ट्रिपल रियर कैमरा सेटअप मिलेगा, जिसमें 50 मेगापिक्सेल OIS मेन + 12 मेगापिक्सेल अल्ट्रावाइड + 30X डिजिटल जूम के साथ 10 मेगापिक्सेल टेलीफोटो सेंसर दिया जा सकता है. सेल्फी के लिए फोन में 4 मेगापिक्सेल अंडर-डिस्प्ले सेंसर और कवर स्क्रीन पर 10 मेगापिक्सेल का फ्रंट कैमरा दिया जा सकता है. रियर कैमरा सेटअप 30fps पर 8K वीडीयो शूटिंग को सपोर्ट करेगा.

कनेक्टिवी के लिए ये फीचर
स्मार्टफोन में वाई-फाई 6, ब्लूटूथ 5.3 और यूएसबी टाइप-सी पोर्ट दिए जाने की संभावना है. डिवाइस पर साइड-माउंटेड फिंगरप्रिंट रीडर दिया जा सकता है. इसका वजन 239 ग्राम हो सकता है और फोल्ड होने पर इसकी मोटाई 12.1 मिमी और अनफोल्ड होने पर 5.6 मिमी हो सकती है.

इतनी होगी कीमत
मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार इस साल फोन की कीमत में बढ़ोतरी हो सकती है. फोल्डेबल फोन की कीमत अमेरिका में 1899.99 डॉलर (256GB) और भारत में लगभग 1,69,999 रुपये से शुरू हो सकती है.
 


अब Whatsapp पर मिलेगा कॉलिंग का बेहतर एक्सपीरियंस, एक साथ मिले कई नए फीचर

Whatsapp यूजर्स को बेहतर कॉलिंग एक्सपीरियंस के लिए वीडियो कॉल में 32 कॉन्टैक्ट्स को ऐड करने, ऑडियो के साथ स्क्रीन शेयरिंग और स्पीकर स्पॉटलाइट जैसे फीचर मिल रहे हैं.

Last Modified:
Friday, 14 June, 2024
BWHindia

व्हाट्सएप (WhatsApp) ने बीते कुछ समय से यूजर्स के लिए कई नए फीचर को रोलआउट किया है. इसी क्रम में अब कंपनी (Meta) यूजर्स के कॉलिंग एक्सपीरियंस को और बेहतर बनाने के लिए 3 नए फीचर लेकर आई है. नए अपडेट्स को आईफोन्स, ऐंड्रॉयड, वेब और PC के लिए लाया गया है। तो चलिए जानते हैं व्हाट्सएप के इन नए फीचर से आपको क्या फायदा होगा?

ऑडियो के साथ स्क्रीन शेयरिंग और वीडियो कॉल में 32 लोग
व्हाट्सएप के इन नए फीचर्स में वीडियो कॉल में 32 कॉन्टैक्ट्स को ऐड करने के अलावा ऑडियो के साथ स्क्रीन शेयरिंग और स्पीकर स्पॉटलाइट शामिल हैं.  इस फीचर के आने से यूजर फ्रेंड्स और फैमिली के साथ वीडियो कॉल पर अपनी स्क्रीन के कॉन्टेंट को ऑडियो के साथ शेयर कर सकेंगे. वीडियो देखने के साथ आप वेबसाइट ब्राउज कर सकते हैं और प्रेजेंटेशन भी दिखा सकते हैं. यह सब अपने कॉल प्रतिभागियों के साथ ऑडियो शेयर करते हुए कर सकते हैं. इसके अलावा कंपनी ने सभी डिवाइसेज के लिए वीडयो कॉलिंग में 32 लोगों को जोड़ने वाले फीचर का भी ऐलान कर दिया है. 

व्हाट्सएप कॉल पर स्पीकर होगा हाइलाइट 

व्हाट्सएप कॉल पर ज्यादा लोगों के होने के कारण स्पीकर यानी बात कर रहे कॉन्टैक्ट को पहचानने में आसानी हो, इसके लिए कंपनी स्पीकर स्पॉटलाइट फीचर लाई है. यह फीचर स्पीकर को हाइलाइट करने के साथ ही स्क्रीन पर उसे सबसे पहले दिखाएगा. 

खराब नेटवर्क और पुराने डिवाइसेज पर भी बेस्ट कॉलिंग एक्सपीरियंस

इसके अलावा कंपनी कॉल रिलायबिलिटी के साथ ऑडियो और वीडियो कॉल की क्वॉलिटी को बेहतर बनाने के लिए MLow codec को भी लॉन्च किया है. कोडेक बेहतर एको और नॉइज कैंसलेशन से मोबाइल डिवाइस पर की जाने वाली कॉल्स की क्वॉलिटी को बेहतर बनाता है. कंपनी के अनुसार इस फीचर के आने से यूजर्स को खराब नेटवर्क और पुराने डिवाइसेज पर भी बेस्ट कॉलिंग एक्सपीरियंस मिलेगा. कंपनी ने नए अपडेट्स के बारे में कहा कि ये पहले से काफी ज्यादा बेहतर हैं. कंपनी ने आगे कहा कि 2015 में कॉलिंग फीचर को लाने के बाद इसे लगातार बेहतर बनाया जा रहा है. व्हाट्सएप के अनुसार ये नए फीचर आने वाले दिनों सभी यूजर्स तक पहुंच जाएंगे.

इसे भी पढ़ें-Musk और Bezos से आगे निकले Ambani, Jio प्लेटफॉर्म्स को पहले मिली सैटेलाइट इंटरनेट शुरू करने की मंजूरी
 


1 Phone में 2 सिम चलाने वालों की खैर नहीं, होश उड़ा देगा TRAI का ये प्लान

अधिकांश लोगों के मोबाइल में दो सिम होते हैं फिर भले ही वो दोनों इस्तेमाल करें या न करें.

Last Modified:
Thursday, 13 June, 2024
BWHindia

यदि आप भी एक मोबाइल में 2 सिम कार्ड इस्तेमाल करते हैं, तो फिर आपके लिए बुरी खबर है. भारतीय दूरसंचार विनियामक प्राधिकरण (TRAI) ऐसा करने वालों से अतिरिक्त शुल्क वसूलने की तैयारी में है. यह शुल्क एकमुश्क या फिर सालाना आधार पर लिया जा सकता है. TRAI की ये व्यवस्था ऐसे यूजर्स के लिए होगी जिनके मोबाइल में दो सिम कार्ड हैं, लेकिन उनमें से एक का इस्तेमाल न के बराबर करते हैं. दरअसल, ट्राई ने टेलीकॉम ऑपरेटर से मोबाइल फोन या लैंडलाइन के नंबर के लिए चार्ज लेने का प्लान बनाया है. ऐसे में मोबाइल ऑपरेटर इस शुल्क की वसूली यूजर्स से कर सकते हैं.

इसलिए पड़ी है ज़रूरत
ट्राई का कहना है कि मोबाइल नंबर एक सार्वजनिक संसाधन है, न की निजी. लिहाजा इनका इस्‍तेमाल भी सार्वजनिक हित को ध्‍यान में रखते हुए किया जाना चाहिए. देश मोबाइल नंबरों की काफी कमी है, इसके बावजूद लोग बिना ज़रूरत के एक मोबाइल में दो सिम रखते हैं. TRAI का मानना है कि अतिरिक्त शुल्क की व्यवस्था लागू होने से नंबरों की उपलब्धता बनी रहेगी. नियमों के अनुसार, अगर किसी सिम कार्ड को ज्यादा वक्त तक रिचार्ज नहीं कराया जाता, तो उसे ब्लैकलिस्ट करने का प्रावधान है. लेकिन, टेलीकॉम कंपनियां अपना यूजर बेस खोने के डर से ऐसा नहीं करतीं. इसी को ध्यान में रखते हुए ट्राई अब इनएक्टिव मोबाइल नंबर को ब्‍लैकलिस्‍ट न करने पर मोबाइल ऑपरेटर पर जुर्माना लगाने जा रहा है. जाहिर है इसका बोझ कंपनियां यूजर्स पर डालेंगी.

ये भी पढ़ें - Kuwait: जिस कंपनी की बिल्डिंग में लगी आग क्या है उसका बिज़नेस, कौन है मालिक?

21.9 करोड़ नहीं हैं एक्टिव 
ट्राई के आंकड़े बताते हैं कि जारी किए गए कुल मोबाइल नंबरों में से करीब 21.9 करोड़ लंबे समय से एक्टिव नहीं हैं. यह आंकड़ा कुल मोबाइल नंबर का लगभग 19% है. आपको बता दें कि सरकार के पास मोबाइल नंबर स्पेसिंग का अधिकार है. सरकार द्वारा ही मोबाइल ऑपरेटर को मोबाइल नंबर सीरीज जारी की जाती है. ट्राई का कहना है कि मोबाइल नंबर सीमित मात्रा में मौजूद हैं, ऐसे में उसे सही तरीके से इस्तेमाल किया जाना बेहद ज़रूरी है. ऐसे कई देश हैं जहां मोबाइल नंबर के लिए टेलीकॉम कंपनियां यूजर्स से शुल्क वसूलती हैं. इसमें UK, ऑस्ट्रेलिया, सिंगापुर, बेल्जियम, फिनलैंड, लिथुआनिया, ग्रीस, हांगकांग, बुल्गारिया, नीदरलैंड, स्विट्जरलैंड, पोलैंड, कुवैत, नाइजीरिया, दक्षिण अफ्रीका और डेनमार्क आदि शामिल हैं.


2 सेल्फी कैमरा के साथ लॉन्च हुआ Xiomi का नया स्मार्टफोन, जानें क्या है इसकी कीमत?

शाओमी (Xiomi) ने 12 जून 2024 को अपना नया स्मार्टफोन Xiaomi 14 CIVI लॉन्च कर दिया है. इस फोन पर कंपनी बैंक ऑफर के साथ खरीदने का मौका दे रही है, जिसमें ग्राहकों को 3 हजार रुपये तक की छूट मिल रही है.

Last Modified:
Wednesday, 12 June, 2024
BWHindia

शाओमी (Xiomi) ने बुधवार यानी 12 जून 2024 को अपने Xiaomi 14 CIVI स्मार्टफोन को लॉन्च कर दिया है. इस फोन को कंपनी 3 कलर ऑप्शन और 2 वेरिएंट में लेकर आई है. फोन की खास बात है कि यह डुअल फ्रंट कैमरा के साथ आता है. फोन की प्री-बुकिंग आज दोपहर 2 बजे से शुरू हो चुकी है. तो चलिए जानते हैं इस फोन की कीमत कितनी है और इसमें क्या खास फीचर्स शामिल हैं?

इतनी है कीमत
शाओमी का ये नया फोन 42,999 रुपये की शुरुआती कीमत पर लॉन्च किया गया है, जिसमें Xiaomi 14 CIVI का 8GB+256GB वेरिएंट 42,999 रुपये और 12GB+512GB वेरिएंट 47,999 रुपये में खरीदा जा सकता है.

3 कलर ऑप्शन में मिलेगा ये नया स्मार्टफोन

शाओमी (Xiomi) का 14 CIVI स्मार्टफोन ग्राहकों को तीन कलर ऑप्शन में मिलेगा, जिसमें Cruise Blue, Matcha Green और Shadow Black जैसे रॉयल कलर शामिल हैं. ये कलर फोन को काफी प्रीमियम बनाते हैं. फोन की खास बात है कि यह डुअल फ्रंट कैमरा के साथ आता है. फोन की प्री-बुकिंग शुरू हो चुकी है.

इन फीचर्स के साथ लॉन्च हुआ स्मार्टफोन

1. Xiaomi 14 CIVI स्मार्टफोन को कंपनी Snapdragon 8s Gen 3 मोबाइल प्लेटफॉर्म के साथ लेकर आई है. फोन 4nm पावर- एफिशिएंट मैन्यूफैक्चरिंग प्रॉसेस के साथ आता है.
ये फोन 1.5K 6.55 इंच एमोलेड स्क्रीन, 1-120Hz रिफ्रेश रेट और 3000 nits पीक ब्राइटनेस के साथ आता है.
2. इसमें LPDDR5X 8533Mbps RAM + UFS 4.0 storage है और ये फोन दो वेरिएंट 8GB + 256GB | 12GB + 512GB में लाया गया है.
3. शाओमी का नया फोन 50MP Light Fusion 800 image sensor के साथ आता है. इसके अलावा फोन, 50MP Leica 50mm telephoto camera, 12MP Leica ultra-wide camera से लैस है. शाओमी का यह फोन दो फ्रंट कैमरा के साथ आता है. फोन 32MP Primary selfie camera और 32MP Ultrawide selfie camera के साथ आता है.
4. इसमें कंपनी ने 4700mAh बैटरी पेश की है, फोन 67W Fast charging support के साथ आता है.

फोन पर मिल रहा डिस्काउंट
कंपनी अपने ग्राहकों को इस फोन को बैंक ऑफर के साथ खरीदने का मौका दे रही है. बैंक ऑफर के साथ फोन पर 3000 रुपये की बचत की जा सकती है. ऐसे में आप इस फोन को 39,999 रुपये की शुरुआती कीमत पर खरीद सकेंगे. इस डिस्काउंट का लाभ आप ICICI Credit Cards और HDFC Credit Cards के साथ पा सकते हैं.

इसे भी पढ़ें-आम जनता को मिली राहत, सरकार ने बढ़ाई राशन कार्ड को आधार से लिंक करने की समयसीमा

 


X पर आया private like फीचर, यूजर्स को मिलेगा ये फायदा

Elon musk के स्वामित्व वाली कंपनी एक्स (X) ने अब अपने यूजर्स के लिए प्राइवेट लाइक नाम का एक न्या फीचर पेश किया है.

Last Modified:
Wednesday, 12 June, 2024
BWHindia

टेस्ला और सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म एक्स के मालिक एलन मस्क (Elon Musk) अपने यूजर्स की गोपनीयता को बेहतर बनाने के लिए एक्स प्लेटफॉर्म पर लगातार नए-नए फीचर्स लेकर आ रहे हैं.कंपनी अब यूजर्स के लिए 'प्राइवेट लाइक' नाम का एक नया फीचर लेकर आई है, जो यूजर्स द्वारा पोस्ट के साथ इंटरैक्ट करने के तरीके को बदल देगा.  एलन मस्क (Elon Musk) ने बुधवार से इस नए फीचर के रोल आउट करने की बात कही है. तो चलिए जानते हैं इस नए फीचर से यूजर्स को क्या फायदा होगा?

बुधवार से टाइमलाइन पर नजर आएगा फीचर

बुधवार से प्राइवेट लाइक फीचर यूजर की टाइमलाइन पर दिखाई देगा, जिसके तहत एक्स यूजर्स  द्वारा पोस्ट को दिए गए लाइक डिफॉल्ट रूप से छिपा दिए जाएंगे. इसका मतलब है कि प्लेटफॉर्म पर यूजर इस बात की चिंता किए बिना कंटेंट को लाइक कर पाएंगे कि इसे कौन देख सकता है. इसे लेकर एलन मस्क ने अपने ऑफिशियल एक्स हैंडल पर एक पोस्ट भी शेयर की है.

 

यूजर्स की सार्वजनिक छवि की होगी रक्षा

ये फीचर  उन लोगों के लिए एक सही विकल्प होगा, जो सार्वजनिक जांच या नकारात्मकता के डर से किसी पोस्ट या कंटेंट पर प्रतिक्रिया देने में संकोच करते हैं. ऐसे कई मामले सामने आ चुके हैं, जहां सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म के यूजर के व्यक्तित्व को इस हिसाब से माना गया है कि वह सोशल मीडिया पर कैसे पोस्ट लाइक करता है. ऐसे में नया फीचर यूजर्स की सार्वजनिक छवि की रक्षा करने में काफी मददगार होगा, क्योंकि दूसरे यूजर्स यह नहीं देख पाएंगे कि वह यूजर प्लेटफॉर्म पर किस पोस्ट को लाइक कर रहा है. 

फीचर के फायदे

प्राइवेट लाइक के साथ यूजर इस बात की चिंता किए बिना पोस्ट से स्वतंत्र रूप से जुड़ सकते हैं कि उनकी एक्टिविटी कौन देख रहा है. यह एक अधिक ओपन और ऑर्थराइज्ड ऑनलाइन अनुभव को बढ़ावा देता है. इसके अलावा एक्स इस बात पर जोर देता है कि निजी लाइक यूजर एक्सपीरियंस को लाभ पहुंचाएंगे. आपके द्वारा पसंद की जाने वाली कंटेंट को एक्टिव रूप से लाइक करके, प्लेटफॉर्म का एल्गोरिदम आपके फीड को आपके लिए बेहतर ढंग से पसर्नलाइज कर सकता है, जो आपको ऐसी कंटेंट सुझाता है जो आपको अधिक दिलचस्प लगेगी.

फीचर के साथ टांसपेरेंसी 

ये लाइक पब्लिक विजुअल में से छिपे हुए हैं, फिर भी पोस्ट के ऑथर को इसके लिए सूचित किया जाएगा. जानकारी के अनुसार एक्स भविष्य में लाइक के लिए यूजर को अपनी प्राइवेसी सेटिंग को कस्टमाइड करने की अनुमति देने पर भी विचार कर रहा है. 

इसे भी पढ़ें-टाटा की E-Car Punch को टक्कर देने आ रही हुंडई की ये नई कार, सिंगल चार्ज पर चलेगी 355 किमी


Elon Musk ने दी Apple को बैन करने की चेतावनी, जानते हैं क्यों?

एप्पल (Apple) के सीईओ Tim Cook ने मंगलवार को अपने ऐप्स और सर्विस में ओपनएआई (OpenAI) के चैटजीपीटी (ChatGPT) की सपोर्ट को जोड़ने का ऐलान किया है.

Last Modified:
Tuesday, 11 June, 2024
BWHindia

एप्पल (Apple) कंपनी आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (AI) सेक्टर में आगे बढ़ रही है. इसके लिए एप्पल ने Apple Intelligence पेश किया है, जिसके तहत कंपनी अपने डिवाइस में AI फीचर्स के लिए सपोर्ट देगी. कंपनी इसके लिए ChatGPT बनाने वाली कंपनी OpenAI की मदद ले रही है. वहीं, एप्पल के इस कदम से टेस्ला के फाउंडर और एक्स के मालिक एलन मस्क (Elon Musk) नाराज हैं. इसके चलते एलन मस्क ने एप्पल को बैन करने की चेतावनमी तक दे दी है. आइए जानते हैं एलन मस्क की इस चेतावनी के पीछे की वजह क्या है?

Apple के डिवाइस में मिलेगा ChatGPT सपोर्ट 

एप्पल (Apple) के डिवाइस में ChatGPT सपोर्ट जोड़ा जाएगा, जिसके बाद लोगों को AI फीचर्स का फायदा मिलेगा. लेकिन एक्स और टेस्ला के मालिक एलन मस्क को यह गठजोड़ पसंद नहीं आया. एक ओर इस पहल से एप्पल यूजर्स बहुत खुश हैं. वहीं, एलन मस्क इस गठजोड़ से काफी नाराज दिख रहे हैं.

एलन मस्क ने दी ये धमकी
मंगलवार यानी 11 जून को एप्पल के सीईओ टिम कुक (Tim Cook) ने अपने ऑफिशियल एक्स हैंडल पर पोस्ट किया कि हम एपल इंटेलिजेंस पेश कर रहे हैं. AI में यह हमारा अगल कदम है. यह पर्सनल, पावरफुल और प्राइवेट है. इसे उन ऐप्स के साथ जोड़ा गया है जिनका रोजमर्रा में आप इस्तेमाल करते हैं. इस पोस्ट पर रिएक्ट करते हुए मस्क ने जवाब दिया कि इसकी जरूरत नहीं है. या तो इस स्पाइवेयर को रोकें, वरना फिर मेरी कंपनियों में सभी एप्पल डिवाइस पर बैन लगा दिया जाएगा.

ChatGPT को बताया स्पाईवेयर
एलन मस्क ओपनएआई के चैटबॉट यानी चैटजीपीटी को एक स्पाईवेयर बताया है. उन्होंने कहा कि यह साफ तौर पर बेतुका है कि एप्पल इतना स्मार्ट नहीं है कि वह अपना खुद का AI बना सके, फिर भी इस ख्याल में है कि OpenAI आपकी सिक्योरिटी और प्राइवेसी की रक्षा करेगा! एप्पल को इस बात का कोई अंदाजा नहीं है कि ओपनएआई को आपका डेटा सौंपने के बाद वास्तव में क्या होगा. वे आपको धोखा दे रहे हैं.

एप्पल डिवाइस बैन करने की चेतावनी
मस्क ने चेतावनी दी कि अगर एप्पल ने OS लेवल पर OpenAI को जोड़ा, तो उनकी कंपनियों में एप्पल डिवाइस बैन हो जाएंगे. यह ऐसा सुरक्षा उल्लंघन है जिसे स्वीकार नहीं किया जा सकता है. इसके अलावा अगर कोई विजिटर आता है तो उसके एप्पल आईफोन आदि को कंपनी के गेट पर ही चेक किया जाएगा. विजिटर्स के एप्पल डिवाइस को फैराडे केज यानी पिंजरे में रख दिया जाएगा.

ओपनएआई के फाउंडिंग मेंबर रह चुके हैं मस्क 
मस्क ने आरोप लगाया कि अपने चैटबॉट को सिखाने के लिए ओपनएआई लोगों के प्राइवेट डेटा का इस्तेमाल करती है. अगर चैटजीपीटी को आईफोन आदि में जोड़ा गया तो इससे यूजर की प्राइवेसी के साथ खिलवाड़ किया जा सकता है. बता दें, एलन मस्क ओपनएआई के फाउंडिंग मेंबर रहे हैं, लेकिन मतभेद के चलते उन्होंने इस कंपनी को अलविदा कह दिया. बाद में माइक्रोसॉफ्ट ने ओपनएआई चैटजीपीटी में भारी निवेश किया.

इसे भी पढ़ें-क्या मोदी 3.0 में भी सरकार का ईवी इंडस्ट्री पर रहेगा फोकस? इंडस्ट्री को है ये उम्मीद


 


AI की दुनिया में धमाल मचाने आ गया Apple Intelligence, बदल जाएगा फोन चलाने का अंदाज

वर्ल्डवाइड डेवलपर कॉन्फ्रेंस (WWDC 2024) में एपल ने कई नए आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (AI) फीचर्स को पेश किया. इसके लिए कंपनी ने OpenAI के ChatGPT का इस्तेमाल किया है.

Last Modified:
Tuesday, 11 June, 2024
BWHindia

दुनिया भर की दिग्गज टेक कंपनियां अपने-अपने AI मॉडल्स डेवलप कर रही हैं. हाल ही में Google ने अपने AI मॉडल Gemini AI को अपग्रेड किया है. इस दौड़ में Apple भी खुद को पीछे नहीं रख सकती, इसलिए उसने भी अपनी वर्ल्डवाइड डेवलपर कॉन्फ्रेंस (WWDC 2024) में नए AI फीचर्स से पर्दा उठाया है. Apple ने यह सब OpenAI के ChatGPT मॉडल की मदद से किया है. WWDC 2024 इवेंट में Apple ने कई बड़े ऐलान किए. कंपनी ने AI के अलावा नए ऑपरेटिंग सिस्टम भी पेश किए जिनमें- iOS 18, iPadOS 18, VisionOS 2, macOS Sequoia और WatchOS11 शामिल हैं. टिम कुक की लीडरशिप वाली Apple ने बताया कि उसके कई सॉफ्टवेयर को ChatGPT से जोड़ा गया है.

AI की दुनिया में Apple की एंट्री 

पूरे दमखम से एआई सेक्टर में कदम रखने वाली Apple ने अपनी AI की दुनिया को Apple Intelligence नाम दिया है. इसके तहत कंपनी ने AI असिस्टेंट Siri में बड़ा बदलाव किया है. लोगों की प्राइवेसी को ध्यान में रखते हुए कंपनी AI फीचर्स का बेनिफिट देगी. आइए आगे जानते हैं कि Apple Intelligence कैसे काम करेगा.

•    Apple Intelligence फीचर्स की बात करें तो आईफोन में यूजर्स अपनी पसंद के मुताबिक नोटिफिकेशन को प्रीओरिटाइजेशन करने के साथ-साथ ऐप्स की मदद से जेनरेटिव राइटिंग टूल्स और इमेज जेनरेटिंग जैसे फीचर्स        इस्तेमाल कर पाएंगे. 
•    Apple का कहना है कि कंपनी का जेनरेटिव एआई यूजर्स की प्राइवेसी का पूरा ध्यान रखता है. यह यूजर्स के लिए पर्सनलाइज्ड कंटेंट तैयार करने की क्षमता रखता है. 
•    कंपनी ने बताया कि Image Generation टूल की मदद से यूजर्स कार्टून इमेज तैयार कर सकते हैं. इसके साथ ही वे मैसेज के जरिए इन्हें एक दूसरे को भी भेज सकते हैं. 
•    Apple Intelligence फिलहाल मुख्यत: ऑन-डिवाइस मॉडल पर उपलब्ध है. यह A17 Pro के साथ iPhone 15 Pro, और M1 और इसके बाद के सभी Apple Silicon Macs के लिए उपलब्ध है.

इन डिवाइस पर चलेगा Apple AI 

Apple Intelligence आपके एपल डिवाइस पर काम करेगा. हालांकि, कुछ मुश्किल टास्क के लिए यह प्राइवेट क्लाउड कंप्यूट की मदद लेगा. कंपनी का कहना है कि आपके डेटा को स्टोर नहीं किया जाता है, ना ही खोला जाता है. Apple इंटेलिजेंस iPhone 15 Pro, iPhone 15 Pro Max, iPad समेत M1 या इससे बाद के चिपसेट वाले MacBooks पर चलेगा. अमेरिका में यह iOS18, iPadOS 18 और macOS Sequoia यूजर्स को फ्री मिलेगा.

Siri और ChatGPT का बेनिफिट

Apple ने अपने AI असिस्टेंट Siri को अपग्रेड करने के लिए ChatGPT को जोड़ा है. नए अपडेट के साथ Siri पहले से बेहतर हो जाएगी और आप बेहतर कनेक्शन महसूस करेंगे. Siri का डिजाइन भी बदल रहा है. Siri के एक्टिव होने पर स्क्रीन के किनारे पर चमकती हुई लाइट दिखाई देगी. इसके अलावा ऑनस्क्रीन अवेयरनेस का भी सपोर्ट मिलेगा. इससे Siri स्क्रीन पर चल रही चीजों को समझकर एक्शन ले सकेगी.
 


Vivo ने लॉन्च किया भारत का सबसे स्लिम और हल्का फोल्डेबल फोन, जानें कीमत और पावरफुल फीचर्स

Vivo ने भारत में अपना पहला फोल्डेबल फोन लॉन्च कर दिया है. Vivo का यह मुड़ने वाला फोन वनप्लस ओपन और सैमसंग के फोल्डेबल फोन टक्कर देगा.

Last Modified:
Friday, 07 June, 2024
BWHindia

Vivo ने भारतीय बाजार में अपने पहले फोल्डेबल फोन के रूप में Vivo X Fold3 Pro को लॉन्च कर दिया है. यह फोल्डेबल वाला फोन काफी स्टाइलिश और कई दमदार फीचर्स के साथ आता है. इसमें Samsung E7 मटेरियल के साथ 8.03 इंच 2K+ 120Hz LTPO स्क्रीन है. जबकि, कवर डिस्प्ले 6.53 इंच की है, जो 120Hz LTPO पैनल है. आइए वीवो के इस फोल्डेबल फोन की कीमत और खासियतों पर एक नजर डालते हैं.

Vivo X Fold3 Pro की डिस्प्ले

Vivo X Fold3 Pro की मेन स्क्रीन का साइज 8.03 इंच है, जो फोल्ड होने पर 6.53 इंच की हो जाती है. इसमें 120Hz रिफ्रेश रेट और 4500 पीक ब्राइटनेस है. इसमें स्मूथ फंक्शनिंग के लिए Snapdragon 8 Gen 3 प्रोसेसर दिया गया है. इसके साथ ही हैंडसेट में 50MP का ऑप्टिकल इमेज सेंसर, 50MP का अल्ट्रा वाइड लेंस और 64MP का टेलीफोटो सेंसर दिया गया है. इसमें V3 इमेजिंग चिप भी लगी है. इस फोन में Zeiss Telephoto कैमरा है. इसे आप 24mm, 35mm, 50mm, 85mm, 100mm तक की पिकचर्स क्लिक कर सकते हैं और 1X, 5X, 10X तक जूम कर सकते हैं..   

Vivo X Fold3 Pro की डिजाइन

Vivo X Fold3 Pro की डिजाइन काफी यूनीक है. कंपनी के मुताबिक ये भारत का पहला हल्का और पतला फोल्डेबल स्मार्टफोन होगा. इसको जब फोल्ड करते हैं तो इसका साइज Measure है 1.12 cm. वहीं थिकनेस इसमें 11.2 mm है. (India's Slimmest Fold) इसके Hinges काफी स्ट्रॉन्ग हैं. कंपनी दावा करती है कि आप इसे 12 साल तक हर दिन 100 से ज्यादा बार फोल्ड कर सकते है.

बड़े बदलाव की तैयारी, 10 डिजिट से ज्यादा का हो जाएगा मोबाइल नंबर!

Vivo के इस फोन में हैं तमाम AI फीचर्स
 
इस फोन में आपको तमाम AI फीचर्स मिल रहे हैं. कंपनी ने गूगल के साथ मिलकर इस फोन में Gemini AI का सपोर्ट जोड़ा है. यूजर्स को इसमें AI Note Assist, AI Transcript Assist, AI Screen Translation जैसे फीचर्स मिलते हैं. इनका इस्तेमाल करके आप अपने ऑफिस, पर्सनल काम के लिए हेल्प ले सकते हैं. हालांकि Vivo ने इन AI फीचर्स को इंट्रोड्यूस करते हुए ये साफ कर दिया है AI फीचर्स की तरफ से जो भी कंटेंट प्रोवाइड कराया जाएगा उस कमिटमेंट की वो कोई गांरटी नहीं लेता.   

फोन की कीमत और वेरिएंट

Vivo X Fold3 Pro को भारतीय बाजार में सिंगल 16GB + 512GB वेरिएंट में लॉन्च किया गया है, जिसकी कीमत 1,59,999 रुपए है. यह सेलेस्टियल ब्लैक कलर ऑप्शन में आता है और फोन 13 जून से वीवो इंडिया ईस्टोर, अमेजन, फ्लिपकार्ट और ऑफलाइन स्टोर्स पर सेल के लिए उपलब्ध होगा. इसकी प्री-बुकिंग शुरू हो चुकी है. इसके वीवो 50W वायरलेस चार्जर की कीमत 5,599 रुपए है और यह 17 जून से वीवो इंडिया ईस्टोर और ऑफलाइन स्टोर्स पर उपलब्ध होगा.

पावरफुल बैटरी

पावर बैकअप के लिए Vivo X Fold3 Pro फोल्डेबल स्मार्टफोन में 5700mAh बैटरी दी गई है. चार्जिंग के लिए स्मार्टफोन में 100W फास्ट चार्जिंग और 50W वायरलेस चार्जिंग सपोर्ट दिया गया है. कंपनी का दावा है कि वायरलेस फास्ट चार्जर से फोन 35 मिनट में 50% चार्ज हो जाएगा और यह फोन देश में सबसे बड़ी बैटरी ऑफर करने वाला फोल्डेबल फोन है. 
 


बड़े बदलाव की तैयारी, 10 डिजिट से ज्यादा का हो जाएगा मोबाइल नंबर!

टेलीकॉम रेगुलेटरी अथॉरिटी ऑफ इंडिया बड़े बदलाव पर काम कर रही है. इसके तहत मोबाइल नंबर बदले जाएंगे.

Last Modified:
Friday, 07 June, 2024
BWHindia

आने वाले समय में आपको फोन नंबर याद रखने के लिए दिमाग पर ज्यादा जोर डालना पड़ेगा, क्योंकि 10 अंकों वाला नंबर और लंबा होने जा रहा है. दरअसल, टेलीकॉम रेगुलेटरी अथॉरिटी ऑफ इंडिया (TRAI) मोबाइल नंबरों में बदलाव की योजना पर काम कर रही है. ट्राई ने इस संबंध में सलाह भी मांगी है. लगातार बढ़ते मोबाइल यूजर्स सहित तमाम तरह की चुनौतियों के मद्देनजर ट्राई ने नेशनल नंबरिंग प्लान को रिवाइस करने का फैसला लिया है. इससे पहले 2003 में भी ऐसा फैसला लिया गया था.

डेडलाइन निर्धारित नहीं
संचार एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय की तरफ से बताया गया है कि TRAI राष्ट्रीय नंबरिंग योजना के संशोधन पर परामर्श पत्र जारी किया है. लगातार बढ़ते मोबाइल यूजर्स और 5G नेटवर्क आने के बाद मोबाइल नंबरिंग में सामने आ रही परेशानी को ध्यान में रखते हुए नेशनल नंबरिंग प्लान को रिवाइस करने का फैसला लिया गया है. हालांकि, सरकार की तरफ से अभी यह स्पष्ट नहीं किया गया है कि ऐसा कब तक करने की योजना है.  

85% बढ़े सब्सक्राइबर
दरअसल, सब्सक्राइबर्स की बढ़ती संख्या की वजह से टेलीकॉम कंपनियों के लिए चुनौती लगातार बढ़ रही है. वर्तमान में 1,199.28 मिलियन टेलीफोन सब्सक्राइबर हैं. इस साल 31 मार्च तक सब्सक्राइबर्स की संख्या में करीब 85 प्रतिशत तक का इजाफा हुआ है. TRAI के अनुसार, देशभर में 750 मिलियन टेलीफोन कनेक्शन के लिए वर्ष 2003 में नंबरिंग रिसोर्स एलोकेट किया गया था. जबकि 21 साल बाद, नंबरिंग रिसोर्स जोखिम के दायरे में आ गया है. क्योंकि नेटवर्क प्रोवाइडर्स की तरफ से सर्विस का दायरा लगातार बढ़ रहा है और सब्सक्राइबर भी बढ़ रहे हैं.

कितना हो सकता है बदलाव?
ट्राई द्वारा मोबाइल नंबरों की संख्या में क्या बदलाव किया जाएगा, इसे लेकर कुछ खास जानकारी नहीं दी गई है. लेकिन एक रिपोर्ट में दावा किया गया है कि मोबाइल नंबर की संख्या 10 से बढ़ाई जा सकती है. इसे 11 से लेकर 13 नंबर तक किया जा सकता है. यदि ऐसा होता है तो आपको मोबाइल नंबर याद रखने के लिए अपने दिमाग पर पहले से ज्यादा जोर डालना होगा. टेलीकॉम रेगुलेटरी अथॉरिटी ऑफ इंडिया (TRAI) ने इस पर सभी से सलाह मांगी है.


Oppo यूजर्स की मौज, स्मार्टफोन में जल्द आएंगे 100 से ज्यादा नए AI फीचर्स

कंपनी का कहना है कि इस साल के अंत तक तकरीबन 5 करोड़ लोग इन फीचर्स का इस्तेमाल कर पाएंगे.

Last Modified:
Wednesday, 05 June, 2024
BWHindia

आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस यानी AI फीचर्स का चलन काफी तेजी से बढ़ता जा रहा है. पिछले कुछ महीनों से एआई टेक्नोलॉजी की काफी चर्चाएं पूरी दुनिया में हो रही है. सैमसंग के बाद अब Oppo कंपनी भी अपने स्मार्टफोन्स को AI फीचर्स से लैस करना चाहती है. OPPO का कहना है कि वे हर किसी के लिए AI वाले फोन लाना चाहते हैं जिसके लिए उन्होंने दुनियाभर में AI से जुड़े 5,399 पेटेंट दर्ज कराए हैं.

कंपनी ने 5,399 पेटेंट दर्ज कराए

चीनी स्मार्टफोन निर्माता कंपनी OPPO ने 5 जून को घोषणा की है कि वह 2024 के अंत तक अपने सभी स्मार्टफोन मॉडलों में 100 से ज्यादा आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (AI) फीचर्स लाएगी. कंपनी ने बताया कि वह गूगल, माइक्रोसॉफ्ट और मीडियाटेक जैसी दिग्गज कंपनियों के साथ मिलकर अपने स्मार्टफोन्स में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस की कैपेबिलिटी बढ़ाएगी. इसका फायदा कैमरे की तस्वीरों को बेहतर बनाने, भाषा को समझने में और फोन की बैटरी को स्मार्ट तरीके से चार्ज करने में मिलेगा. इसके अलावा, कंपनी ने कहा है कि उसने दुनियाभर में AI से जुड़े 5,399 पेटेंट दर्ज कराए हैं.

Instagram के लिए Meta लेकर आ रहा है नया फीचर, रील देखने के लिए करना होगा ये काम

5 करोड़ लोग इन फीचर्स का करेंगे इस्तेमाल

OPPO का कहना है कि वे हर किसी के लिए AI वाले फोन लाना चाहते हैं. कंपनी के विदेशी बाजारों के सेल्स और सर्विस के अध्यक्ष बिली झांग ने बताया कि यह AI फीचर्स कंपनी अब तक सबसे ज्यादा स्मार्टफोन मॉडलों में ला रही है. हम उम्मीद करते हैं कि इस साल के अंत तक तकरीबन 5 करोड़ लोग इन फीचर्स का इस्तेमाल कर पाएंगे.  OPPO का कहना है कि उनके आने वाले फ्लैगशिप स्मार्टफोन्स में गूगल के जेमिनी के LLM होंगे. ये मॉडल AI टूलबॉक्स जैसे फीचर्स को चलाएंगे, जिनमें AI राइटर और AI रिकॉर्डिंग समरी शामिल हैं. AI राइटर, जैसा कि नाम से पता चलता है, लिखने में आपकी मदद करेगा.

माइक्रोसॉफ्ट के साथ कर रहे हैं काम

OPPO के मुख्य प्रोडक्ट अधिकारी पीट लाऊ का कहना है कि अगली पीढ़ी के AI स्मार्टफोन मोबाइल फोन उद्योग में एक बड़े बदलाव की अगुआई करेंगे. उन्होंने आगे कहा कि हम AI स्मार्टफोन के क्षेत्र में अहम योगदान देना चाहते हैं. हम उम्मीद करते हैं कि उद्योग जगत के साथ मिलकर मोबाइल फोन उद्योग में नई खोज करेंगे और मोबाइल फोन के साथ आने वाले स्मार्ट अनुभव को नया रूप देंगे. इसके साथ ही OPPO का कहना है कि वे माइक्रोसॉफ्ट के साथ मिलकर टेक्स्ट को आवाज में और आवाज को टेक्स्ट में बदलने का ज्यादा बेहतर, सटीक और आसान अनुभव देने जा रहे हैं. यह माइक्रोसॉफ्ट के फास्ट ट्रांसक्रिप्शन और न्यूरल टीटीएस टेक्नोलॉजी की मदद से होगा.

मीडियाटेक के साथ साझेदारी

मीडियाटेक के साथ साझेदारी के बारे में OPPO का कहना है कि वे इस ताइवानी सेमीकंडक्टर कंपनी के साथ मिलकर अपने हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर के लिए AI फीचर्स को बेहतर बनाने पर काम कर रहे हैं. साथ ही, यह पार्टनरशिप खास OPPO की जरूरतों के हिसाब से AI फ्रेमवर्क बनाने में भी मदद करेगी. इससे OPPO को चिप बनाने वाली कंपनी की विशेषज्ञता का फायदा उठाते हुए अपने डिवाइस के लिए खास AI फीचर्स बनाने में मदद मिलेगी.